एक बॉलीवुड का शोमैन और दूसरा इंडस्ट्री का भारत कुमार. बात हो रही है फ़िल्म इंडस्ट्री के दो बड़े कलाकार राज कपूर और मनोज कुमार साहब की. दोनों अपने-अपने काम में माहिर थे और दोनों की दोस्ती भी काफ़ी गहरी थी. इतनी कि बात हम प्याला हम निवाला तक पहुंच गई थी.

लेकिन एक बार कुछ ऐसा हुआ कि दोनों की दोस्ती में दरार आ गई. एक ग़लतफहमी की वजह से राज कपूर अपने जिगरी दोस्त मनोज कुमार से कटे-कटे रहने लगे. किस बात से राज कपूर उनसे ख़फा थे और कैसे दोनों की दोस्ती हुई उससे जुड़ा क़िस्सा आज हम आपके लिए लेकर आए हैं.

twitter

ये क़िस्सा जुड़ा है राज कपूर की फ़ेमस फ़िल्म ‘मेरा नाम जोकर’ से. हुआ यूं के राज कपूर फ़िल्म ‘मेरा नाम जोकर’ पर काम कर रहे थे. इसमें एक कैमियो रोल भी था जिसे वो मनोज कुमार से करवाना चाहते थे. उन्होंने ये रोल ऑफ़र करने के लिए मनोज कुमार को फ़ोन लगाया. उधर से जवाब मिला रॉन्ग नंबर.

indiatvnews

इस बात से राज कपूर को ये लगा कि शायद उनके जिगरी दोस्त उनसे बात नहीं करना चाहते और इसलिए उन्हें नज़रअंदाज़ कर रहे हैं. दरअसल, ग़लती मनोज कुमार जी की भी नहीं थी. जिस वक़्त राज कपूर का फ़ोन आया वो मुंबई में ही नहीं थे. जब मनोज कुमार को इस बारे में पता चला तो उन्होंने तुरंत राज कपूर को फ़ोन लगाया और मिलने का समय मांगा. 

medium

दोनों अगले दिन शाम को 4 बजे म्यूज़िक कंपोजर जयकिशन के घर मिले. यहां मनोज कुमार ने राज कपूर साहब से कहा कि न तो वो और न ही उनकी पत्नी उनसे इस तरह बात कर सकते हैं. वो दोनों तो एक फ़िल्म की शूटिंग के सिलसिले में मुंबई से बाहर थे. इसके बाद आगे की बाते होने लगीं और जब मनोज कुमार की बात ख़त्म हुई तो राज कुमार भावुक हो गए. उन्हें अपनी भूल का एहसास हुआ. वो वहीं मनोज कुमार की गोद में ही सिर रख कर रोने लगे थे.

ख़ैर उस दिन अगर मनोज कुमार अपने दोस्त राज कपूर से न मिले होते तो ‘मेरा नाम जोकर’ में उनका कैमियो रोल भी न होता. मनोज कुमार ने ख़ुद इस क़िस्से का ज़िक्र अपने एक इंटरव्यू में किया था. 

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.