1997 में कांति शाह की एक फ़िल्म रिलीज़ हुई थी नाम था 'लोहा'. ये उस साल की सबसे अधिक कमाई करने वाले फ़िल्मों में से एक थी. इसमें धर्मेंद्र, मिथुन चक्रवर्ती, गोविंदा, शक्ति कपूर और मोहन जोशी जैसे स्टार्स थे. इस फ़िल्म का प्रमोशन करते हुए धर्मेंद्र, शक्ति कपूर और मिथुन चक्रवर्ती ने एक इंटरव्यू दिया था.

शक्ति कपूर(Shakti Kapoor) और मिथुन दोनों बहुत पुराने दोस्त हैं. स्ट्रगलिंग डेज़ में दोनों साथ में ही रहा करते थे. इस इंटरव्यू में शक्ति कपूर ने अपने बेस्ट फ़्रेंड मिथुन पर अपने पेट पर लात मारने के लिए तंज कसा था. वही दिलचस्प क़िस्सा आज हम आपके लिए लेकर आए हैं.

Source: Rotten Tomatoes

ये भी पढ़ें: क़िस्सा: जब नाम बदलकर कैबरे डांसर हेलेन के असिस्टेंट के रूप में काम करते थे मिथुन चक्रवर्ती

दरअसल, 'लोहा' फ़िल्म के इस प्रमोशनल इंटरव्यू में एंकर ने मिथुन को 'जल्लाद' फ़िल्म के लिए मिले बेस्ट विलेन के अवॉर्ड का ज़िक्र किया. इसी बीच शक्ति कपूर ने उन्हें रोकते हुए कहा कि- 'इसने मेरे पेट पर लात मार दी.'

Source: cinestaan

फिर उन्होंने कहा- 'अब देखिए एक विलेन का रोल नायक कर रहा है. इसलिए मुझे कॉमेडी करनी पड़ रही है. इसे बेस्ट विलेन का अवॉर्ड मिला था और मुझे बेस्ट कॉमेडियन 'राजा-बाबू' के लिए.'   

mithun chakraborty
Source: bollywoodhungama

वहीं पास में बैठे धर्मेंद्र से भी एंकर ने पूछ ही लिया कि आप कैसे पीछे रह गए. इसके जवाब में धर्मेंद्र ने हंसते हुए कहा-'मैंने अपना पेट दोनों को दे दिया है अब देखते हैं कि कौन-किसके पेट पर लात मारता है.' इसके बाद सभी ठहाके मारकर हंसने लगते हैं.'  इस इंटरव्यू की ये क्लिप आप यहां देख सकते हैं:

ग़ौरतलब है कि शक्ति कपूर 80-90 के दशक में विलेन के किरदार निभाकर हिट हुए थे, लेकिन बाद के समय में उन्होंने कॉमेडी करना शुरू कर दिया था. शक्ति कपूर का रियल नेम सुनील सिकंदर कपूर है और आज उन्हें पूरी दुनिया बॉलीवुड के बेस्ट एक्टर्स के रूप में जानती है.