अभिनेता अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) मराठी फ़िल्म इंडस्ट्री में एक बड़े स्तंभ के तौर पर जाने जाते हैं. बॉलीवुड में जो मुक़ाम कादर ख़ान और जॉनी लीवर का है मराठी सिनेमा में वही मुक़ाम अशोक सराफ़ ने भी हासिल किया है. अशोक केवल मराठी फ़िल्मों में ही नहीं, बल्कि 70 से अधिक हिंदी फ़िल्मों में भी काम कर चुके हैं. बॉलीवुड फ़िल्मों में उनके द्वारा निभाये गये कई किरदार आज आइकॉनिक बन गये हैं. चाहे वो 'करन-अर्जुन' फ़िल्म का 'मुंशीजी' हो या फिर 'गुप्त' फ़िल्म का 'हवलदार पांडु', अशोक सराफ़ अपनी दमदार कॉमिक टाइमिंग से हर किरदार को यादगार बना देते हैं. वो एक ऐसे अभिनेता हैं जो कॉमिक रोल के साथ-साथ सीरियस रोल में भी बेहद सहज नज़र आते हैं. यही उनकी ख़ासियत भी है.

ये भी पढ़ें: 90's में कांचा चीना और कात्या जैसे किरदारों को यादगार बनाने वाले Danny Denzongpa आजकल कहां हैं?

अशोक सराफ़, Ashok Saraf
Source: bollywoodlivehd

बॉलीवुड के साथ-साथ मराठी फ़िल्म इंडस्ट्री में भी अपनी दमदार कॉमेडी और बेहतरीन एक्टिंग से लाखों लोगों के दिलों पर राज करने वाले अभिनेता अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) आज लाईमलाईट से भी काफ़ी दूर हो गये हैं. 250 से अधिक मराठी फ़िल्मों और 70 के क़रीब बॉलीवुड फ़िल्मों में नज़र आ चुके अशोक केवल बड़े परदे के ही नहीं, बल्कि छोटे परदे के भी बड़े स्टार रह चुके हैं. अशोक सराफ़ ने 90 के मशहूर टीवी शो 'हम पांच' में 'आनंद माथुर' के तौर घर-घर में पहचान बनाई थी. इसके अलावा वो कई मराठी सीरियल्स में भी नज़र आ चुके हैं. इसी वजह से उन्हें मराठी फ़िल्म जगत में 'सम्राट अशोक' भी कहा जाता है.

Ashok Saraf in Hum Paanch
Source: indiatvnews

चलिए आज आपको टीवी और फ़िल्मों के इस बेहतरीन कलाकार की ज़िंदगी से रूबरू कराते हैं-

असल ज़िंदगी में कौन हैं अशोक सराफ़? 

अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) का जन्म 4 जून, 1947 को मुंबई में हुआ था. मुम्बई में उनके पिता का अच्छा ख़ासा इंपोर्ट-एक्सपोर्ट का बिज़नेस हुआ करता था. उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा मुंबई के डीजीटी स्कूल से पूरी की है. अशोक के पिता चाहते थे कि बेटा पढ़ाई लिखाई के बाद एक अच्छी नौकरी हासिल करे, लेकिन अशोक को बचपन से ही अभिनय का शौक था. इसीलिए कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही उन्होंने 'थिएटर' जॉइन कर लिया था. इस दौरान उन्होंने कई बेहतरीन नाटकों में काम किया.

Ashok Saraf

Ashok Saraf
Source: wikibio

अशोक सराफ़ की पर्सनल लाइफ़ 

मराठी फ़िल्म जगत में 'अशोक मामा' के नाम से मशहूर अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) ने साल 1990 में एक्ट्रेस निवेदिता जोशी से शादी की थी. उन्होंने उम्र में 18 साल छोटी निवेदिता से गोवा के 'मंगुशी मंदिर' में शादी की थी. अशोक का परिवार मूल रूप से गोवा से ही है. अशोक और निवेदिता का एक बेटा है जिसका नाम अनिकेत सराफ़ है. लेकिन अनिकेत माता-पिता की तरह फ़िल्मों में करियर बनाने के बजाय शेफ़ बनने का फ़ैसला किया.

Ashok Saraf With Wife Nivedita Saraf
Source: bollywoodlivehd

कैसा रहा फ़िल्मी कैरियर? 

अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) ने महज 18 साल की उम्र में सन 1969 में मराठी फ़िल्म 'जानकी' के ज़रिए अभिनय की दुनिया में कदम रखा था. इसके बाद साल 1978 में 'दामाद' फ़िल्म से बॉलीवुड में डेब्यू किया. इससे पहले को 10 से अधिक मराठी फ़िल्मों में अपनी शानदार एक्टिंग से पहचान बना चुके थे. अशोक ने अपने करियर में तक़रीबन 250 से अधिक मराठी फ़िल्मों में काम किया है, जिनमें से 100 से अधिक फ़िल्में कमर्शियली सक्सेसफुल रही है. वहीं दूसरी तरफ़ उनके बॉलीवुड करियर की बात करें तो, 'करन अर्जुन', 'कोयला', 'गुप्त', 'यस बॉस', 'बंधन', 'प्यार किया तो डरना क्या', 'बेटी नंबर 1', 'ज़ोरों का गुलाम', 'जोड़ी नंबर 1' और 'सिंघम' समेत 70 से अधिक फ़िल्मों में अपनी शानदार कॉमेडी का तड़का लगाया.

Ashok Saraf Hindi Films
Source: news18

जीत चुके हैं कई बड़े अवॉर्ड्स  

अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) अपने शानदार अभिनय के लिए अब तक कई अवॉर्ड्स जीत चुके हैं. अशोक ने पहली बार सन 1975 में मराठी फ़िल्म 'पांडु हवलदार' में शानदार अभिनय के लिए 'महाराष्ट्र सरकार पुरस्कार' हासिल किया था. इसके बाद सन 1977 में उन्होंने मराठी फ़िल्म 'राम राम गंगाराम' के लिए पहला 'फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड' जीता था. वो अब तक कुल 5 फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड जीत चुके हैं. मराठी फ़िल्म 'सवाई हवलदार' के लिए 'स्क्रीन अवार्ड', भोजपुरी फ़िल्म 'मायका बिटुआ' के लिए 'भोजपुरी फ़िल्म पुरस्कार' हासिल कर चुके हैं. मराठी फ़िल्मों के लिए 10 'राज्य सरकार पुरस्कार' के अलावा 'Maharashtracha Favorite Kon' के लिए 'सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता' का अवॉर्ड भी जीत चुके हैं.

Ashok Saraf Marathi Films
Source: timesofindia

ये भी पढ़ें- जानिए 90's की फ़िल्मों का ख़ूंख़ार विलेन 'चिकारा' उर्फ़ रामी रेड्डी आज किस हाल में है और कहां है

अब कहां हैं अशोक सराफ़? 

अभिनेता अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) की आख़िरी बॉलीवुड फ़िल्म 'सिंघम' थी. अजय देवगन स्टारर इस फ़िल्म में उन्होंने एक निडर हेड कांस्टेबल 'प्रभु सावलकर' का किरदार निभाया था. ये फ़िल्म साल 2011 में रिलीज़ हुई थी. बॉलीवुड ही नहीं वो अब मराठी फ़िल्मों में भी बेहद कम दिखाई देते हैं. पिछले 10 सालों में वो केवल 5 मराठी फ़िल्मों में नज़र आये हैं. उनकी आख़िरी मराठी फ़िल्म 'प्रवास' साल 2020 में रिलीज़ हुई थी. अशोक सराफ़ आज फ़िल्मी दुनिया के साथ-साथ लाइमलाइट से भी पूरी तरह दूर हो चुके हैं और अपनी पत्नी निवेदिता के साथ ग़रीब बच्चों की शिक्षा दीक्षा के लिए काम कर रहे हैं. इसके अलावा वो कभी कभार नाटक (थिएटर) भी करते हैं.

Bollywood Actor Ashok Saraf
Source: bollywoodhungama

'हम पांच' सीरियल का आनंद माथुर आज भी हमें अच्छे से याद है.

बॉलीवुड और मराठी फ़िल्मों के बादशाह अशोक सराफ़ (Ashok Saraf) अब 74 साल के हो चुके हैं.