‘बॉबी डार्लिंग’… भारत में आज इस नाम से शायद ही कोई अनजान हो. बॉबी डार्लिंग (Bobby Darling) भारतीय फ़िल्म एंड टीवी इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान रखती हैं, लेकिन इस मुकाम तक पहुंचने के लिए उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना पड़ा. इस दौरान बॉबी ने अपनी ज़िंदगी में कई उतार-चढ़ाव भी देखे. लेकिन बॉबी ने अपनी ज़िंदगी की हर परेशानी का डटकर सामना किया और बॉलीवुड में ख़ुद की एक पहचान बनाई.

ये भी पढ़ें- जानिए बॉलीवुड फ़िल्मों में हीरो से पिटने वाला ‘JoJo’ कौन है और उसका असली नाम क्या है?

tribuneindia

कौन हैं बॉबी डार्लिंग? 

बॉबी डार्लिंग उर्फ़ पाखी शर्मा उर्फ़ पंकज शर्मा, जी हां ये तीनों ही नाम उन्हीं के हैं. दिल्ली की रहने वाली ‘बॉबी डार्लिंग’ का जन्म ‘पंकज शर्मा’ के रूप में हुआ था. वो जब बेहद छोटी थीं तभी उनकी मां का निधन हो गया था. उम्र बढ़ने लगीं तो बॉबी लड़कियों की तरफ़ ज़्यादा आकर्षित होने लगीं और उन्हीं की तरह हाव-भाव और ड्रेसेज़ भी पहनने लगीं. लेकिन उनकी ये आदतें उनके अपनों और करीबियों को ज़रा भी पसंद न थी.

reddit

15 साल की उम्र में एहसास हुआ वो औरत हैं

15 साल की उम्र तक बॉबी को एहसास हो गया कि वो हैं तो मर्द, लेकिन उनके अंदर कहीं न कहीं एक औरत है. बॉबी ने जब ये बात अपने पिता को बताई तो उन्होंने उसे घर से निकाल दिया. ये वो दौर था जब भारत में ट्रांसजेंडर शब्द को पाप की नज़र से देखा जाता था. लेकिन बॉबी अपने इस दर्द से भागने के बजाय उसी के साथ जीने का फैसला किया. इसके बाद शुरू हुआ बॉबी का असली संघर्ष. अब बॉबी अकेली थीं, क्या करें? कैसे करें? कुछ समझ नहीं आ रहा था.

bonobology

‘पंकज शर्मा’ से बन गयीं ‘पाखी शर्मा’

दिल्ली में किसी की मदद से बॉबी डार्लिंग फ़ैशन इंडस्ट्री से जुड़ गयीं और धीरे-धीरे अपने टैलेंट के दम पर में पहचान बनाने लगीं. इसके बाद किसी की सलाह पर बॉबी ने अपना जेंडर चेंज करने का फ़ैसला किया और वो पंकज शर्मा से पाखी शर्मा बन गयीं, लेकिन इसके बाद भी उनका संघर्ष कम नहीं हुआ. क्योंकि आज से 20 साल पहले भारत में ‘ट्रांसजेंडर’ एक नया विषय था और लोग इसे आसानी से अपनाने से डरते थे.

filmymantra

बॉबी डार्लिंग (Bobby Darling) ने जब बतौर ट्रांसजेंडर मुंबई का रुख किया तो बॉलीवुड में उन्हें कोई काम नहीं मिला. इस दौरान रोजी रोटी के लिए उन्हें ‘बार’ में डांस भी करना पड़ा. इसके बाद बॉबी ने मुंबई फैशन इंडस्ट्री में कदम रखा और अपनी एक अलग पहचान बनाई. इस दौरान उनकी कई बॉलीवुड स्टार्स से दोस्ती भी हो गयी और वो फ़िल्मों में रोल भी तलाश करने लगीं. आख़िरकार बॉबी की मेहनत रंग लायी और साल 1999 में उन्हें बॉलीवुड की एक बड़ी फ़िल्म में ब्रेक मिल ही गया.

indiatoday

कैसा रहा बॉलीवुड करियर?  

बॉबी डार्लिंग ने साल 1999 में सुभाष घई कि फ़िल्म ‘ताल’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था. इस फ़िल्म में उन्होंने ड्रेस डिज़ाइनर का एक छोटा सा रोल किया था. इसके बाद तो बॉबी की निकल पड़ी. बॉबी डार्लिंग ‘स्टाइल’, ‘न तुम जानो न हम’, ‘मैंने दिल तुझको दिया’, ‘जीना सिर्फ़ मेरे लिये’, ‘पेज 3’, ‘क्या कूल हैं हम’, ‘टॉम डिक एंड हैरी’, ‘अपना सपना मनी मनी’, ‘ट्रैफ़िक सिग्नल’, ‘शिरिन फ़रहाद की तो निकल पड़ी’ और ‘हंसी तो हंसी’ जैसी फ़िल्मों में अपनी एक्टिंग के जलवे बिखेरे.

idiva

कई टीवी शो में भी किया काम  

बॉबी डार्लिंग (Bobby Darling) ने साल 2004 में मशहूर टीवी धारावाहिक ‘कहीं किसी रोज़’ से अपना टीवी डेब्यू भी किया था. इसके बाद वो ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’, ‘कसौटी ज़िंदगी की’, ‘फ़ेम गुरुकुल’, ‘बिग बॉस सीज़न-1’, ‘सच का सामना’, ‘इमोशनल अत्याचार’, ‘इस प्यार को क्या नाम दूं’, ‘आहट’, ‘ये है आशिक़ी’, ‘ससुराल सिमर का’ और ‘कृष्णाकोली’ जैसे धारावाहिकों में भी नज़र आयीं.

bollywoodlivehd

साल 2016 में भोपाल के व्यवसायी से की शादी  

बॉलीवुड में अपना एक ख़ास मुकाम बनाने वाली बॉबी LGBT अधिकारों की मुखर समर्थक भी रही हैं. साल 2016 में बॉबी ने भोपाल के व्यवसायी रमनीक शर्मा से शादी की थी. लेकिन सितंबर 2017 में उन्होंने धोखाधड़ी, वैवाहिक क्रूरता और अप्राकृतिक यौन संबंध का हवाला देते हुए पति रमणीक शर्मा के ख़िलाफ़ तलाक की अर्जी दी. इसके बाद मई 2018 में रमनीक शर्मा को घरेलू हिंसा के आरोप में गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया गया था.

timesofindia

बॉबी डार्लिंग (Bobby Darling) आख़िरी बार साल 2014 में बॉलीवुड फ़िल्म ‘Dee Saturday Night’ में नज़र आई थीं. लेकिन पिछले 5 सालों से बॉबी गुमनामी की ज़िंदगी जी रही हैं.

ये भी पढ़ें- जानिए कौन थे ‘अल्लूरी सीताराम राजू’ व ‘कोमराम भीम’, जिनकी ज़िंदगी पर बनी है राजामौली की फ़िल्म RRR