Bollywood: फ़िल्म मैंने प्यार किया के कैरेक्टर हो या डायलॉग सबके दिमाग़ में आज भी छपे हुए हैं. 'लड़का और लड़की कभी दोस्त नहीं हो सकते' और 'दोस्ती में No Sorry No Thank you' ये दो यादगार डायलॉग्स हैं, जिन्हें पीढ़ी दर पीढ़ी लोग बोल रहे हैं. ऐसा लगता है कि इस फ़िल्म के 30 साल से ज़्यादा होने के बाद भी इसे न तो पुराने लोग और न ही आज के बच्चे भूले हैं. हर जेनेरेशन के लोग इस फ़िल्म से ख़ुद को जोड़ लेते हैं. 1989 में रिलीज़ हुई इस ब्लॉकबस्टर फ़िल्म के गाने भी ब्लॉकबस्टर थे, हैं और रहेंगे. फ़िल्म में प्रेम और सुमन के अलावा जितने भी किरदार थे सबको बराबर पसंद किया गया. इसी में से एक थीं, नकचढ़ी सीमा, जो जब भी आती थी कुछ न कुछ बवाल करा के जाती थी. फ़िल्म में सीमा का किरदार परवीन दस्तूर ने निभाया था और सीमा, मोहनीश बहल की बहन बनी थीं. 

 Pervin Dastur
Source: tosshub

ये भी पढ़ें: आख़िर क्यों 'मैंने प्यार किया' के सुपर-डुपर हिट होने के बाद भी महीनों तक नहीं मिला भाईजान को काम

Bollywood

फ़िल्म में सीमा बहुत ही स्मार्ट कहें तो इंग्लिश मेम की तरह दिखाई गई थीं. वेस्टर्न कपड़े, कर्ली हेयर और अच्छा सा मेकअप ये थी सीमा की पहचान, जब सीमा को इतनी पापुलैरिटी मिली फिर भी सीमा क्यों फ़िल्मी पर्दे से दूर हो गईं? क्यों सीमा फिर ज़्यादा फ़िल्मों में नज़र नहीं आईं? अगर परवीन बॉलीवुड फ़िल्मों (Bollywood) से दूर हो चुकी हैं तो अब कहां और क्या कर रही हैं? ये जानना चाहते हैं तो चलिए आगे इसी आर्टिकल में जानते हैं.

 Pervin Dastur
Source: merisaheli

दरअसल, ‘मैने प्यार किया’ सिर्फ़ भाग्यश्री की ही नहीं, बल्कि परवीन दस्तूर की भी पहली फ़िल्म थी. जैसे सुमन के रोल के लिए सीधी-सादी लड़की चाहिए थी, वैसे ही सीमा के रोल के लिए एक ऐसी लड़की चाहिए थी, जो भारतीय हो, लेकिन दिखने में विदेशी लगे और उसका बोलने का तरीक़ा भी वैसा ही हो. तब थियेटर कर रही परवीन ने इस रोल के लिए ऑडिशन दिया. परवीन का इंग्लिश एक्सेंट सूरज बड़जात्या को अच्छा लगा और उन्होंने सीमा का रोल परवीन को दे दिया.

 Pervin Dastur
Source: telegraphindia

ये भी पढ़ें: जानिये 100 से ज़्यादा फ़िल्मों में शानदार अभिनय कर चुके अभिनेता राज किरण कहां ग़ायब हो गए हैं

परवीन ने सीमा के किरदार के साथ पूरा न्याय किया और इसे बहुत ही बेहतरीन तरीक़े से निभाया. सीमा को लोगों ने प्रेम और सुमन के जितना ही पसंद किया. परवीन रातों-रात फ़ेमस तो हो गईं, लेकिन उन्हें फ़िल्में नहीं मिलीं और उन्होंने विज्ञापनों की तरफ़ रुख़ कर लिया. 1989 के बाद परवीन की दूसरी फ़िल्म ‘दिल के झरोखे में’ 8 साल बाद 1997 में रिलीज़ हुई, जिसकी वजह से वो फ़ैंस का प्यार बटोरने में असफ़ल रहीं.

 Pervin Dastur
Source: telegraphindia
Pervin dastur
Source: news24online

हालांकि, परवीन ने असफ़ल होने के बाद निराश होने की बजाय बॉलीवुड को छोड़ना सही समझा और वो फ़िल्मों से पूरी तरह से दूरी बना ली. परवीन ने शाहरुख साइरस ईरानी से शादी की और उनसे दो बेटियां है, जिनका नाम जिनेवी ईरानी और कायरा ईरानी है. हालांकि, परवीन के पति भी एक थियेटर आर्टिस्ट हैं, इसलिए परवीन ने अपने पहले प्यार थियेटर को कभी नहीं छोड़ा, वो हमेशा थियेटर करती रहीं और आज भी करती हैं. इसके अलावा, वो एक सक्सेसफ़ुल हेयर स्टाइलिस्ट हैं और कई बॉलीवुड स्टार्स को सर्विस दे चुकी हैं.

 Pervin Dastur
Source: news24online

आपको बता दें, परवीन को कभी भी बॉलीवुड में असफ़ल होने का दुख नहीं हुआ क्योंकि हर इंसान के पास दो रास्ते होते हैं बस चुनना होता है. परवीन ने थियेटर और हेयर स्टाइलिंग को चुना. इसलिए आज वो पर्सनल और प्रोफ़ेशनल दोनों लाइफ़ में ख़ुश भी हैं और बैलेंस भी बना चुकी हैं.