बॉलीवुड में 70 से लेकर 90 के दशक तक एक से बढ़कर एक विलेन हुये हैं. इनमें जीवन, प्राण, अजीत, रंजीत, प्रेम चोपड़ा, अमज़द ख़ान, अमरीश पूरी और डैनी डेंज़ोंगपा समेत कई बेहतरीन विलेन शामिल हैं. उस दौर की फ़िल्मों में इन विलेन्स की पवार हीरो से कुछ कम नहीं थी. अपने दमदार डायलॉग और किरदार से ये किसी भी फ़िल्म को हिट कराने का दमखम रखते थे. ऐसे में हीरो का काम थोड़ा आसान हो जाता था. इन्हीं विलेन्स में से एक मानिक ईरानी (Manik Irani) भी थे. शायद ही आज का कोई सिनेमाप्रेमी इस नाम से वाक़िफ़ हो, लेकिन तस्वीर देखने के बाद आप इस विलेन को पहचान जायेंगे और उनके निभाये किरदार आपको झट से याद आ जायेंगे.

ये भी पढ़ें: 90’s में कांचा चीना और कात्या जैसे किरदारों को यादगार बनाने वाले Danny Denzongpa आजकल कहां हैं?

indianfilmhistory

Manik Irani AKA Billa

माणिक ईरानी की पर्सनालिटी ऐसी थी कि जो एक बार उन्हें देख ले, वो भूल नहीं सकता था. लंबी-चौड़ी कद-काठी के माणिक के सामने हीरो भी बौने लगते थे. 60 से लेकर 80 के दशक में जहां बॉलीवुड फ़िल्मों के हीरो की तोंद निकली होती थी, उस दौर में मानिक अपनी ज़बरदस्त फ़िटनेस के लिए जाने जाते थे. इसी वजह से उनकी पर्सनालिटी विलेन के किरदार पर काफ़ी फिट भी बैठती थी, लेकिन स्क्रिप्ट के तहत विलन को हारना पड़ता था. वरना माणिक अगर किसी पर एक हाथ भी मार दे तो वो इंसान खड़ा भी न हो पाये.

twitter

मानिक ईरानी (Manik Irani) ने सन 1974 में अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत बॉलीवुड फ़िल्म ‘पाप और पुण्य’ से की थी. शशि कपूर और शर्मीला टैगोर स्टारर इस फ़िल्म में मानिक ईरानी ने एक छोटा सा किरदार निभाया था. इस फ़िल्म में उन्होंने विलेन बने अजीत के गुर्गे का किरदार निभाया था. अपनी पहली ही फ़िल्म में नेगेटिव किरदार निभाने वाले मानिक को इस फ़िल्म में एक्टिंग के साथ-साथ पर्सनालिटी को लेकर काफ़ी सराहना मिली.

Manik Irani AKA Billa

navbharattimes

मानिक ईरानी (Manik Irani) ने इसके बाद ‘कालीचरण’, ‘त्रिसूल’, ‘डॉन’, ‘विश्वनाथ’, ‘मिस्टर नटवरलाल’, ‘शान’, ‘सिलसिला’, ‘नास्तिक’ और ‘मंगल पांडे’ जैसी बेहतरीन फ़िल्मों में भी काम किया. ‘कालीचरण’ फ़िल्म में मानिक ने ‘गूंगे बदमाश’ का किरदार निभाया था, ये किरदार आज लोगों के जहन में है. मणिक ईरानी इसके बाद अमिताभ बच्चन के साथ ‘त्रिशूल’ फ़िल्म में नज़र आए. इस फ़िल्म में उन्होंने अमिताभ की जमकर धुनाई भी की थी.  

cinestaan

‘डॉन’ में बने अमिताभ के बॉडी डबल

ये बात बेहद कम लोग जानते हैं कि 1978 में आई फ़िल्म ‘डॉन’ में अमिताभ के साथ उनके बॉडी डबल का काम मणिक ईरानी ने ही किया था. बॉलीवुड फ़िल्मों में बतौर विलन मानिक ईरानी के स्टारडम को लेकर ये कहना गलत नहीं होगा कि उनकी पॉपुलरिटी अमिताभ बच्चन के बराबर की थी. यही वजह थी कि लोग अमिताभ के अपोजिट विलेन के तौर पर उन्हें देखना ही पसंद करते थे. 80 के दशक तक वो बॉलीवुड के धाकड़ विलेन बन चुके थे.

Manik Irani AKA Billa

navbharattimes

‘बिल्ला’ के किरदार ने बनाया मशहूर

साल 1983 में आई सुभाष घई की फ़िल्म ‘हीरो’ ने मानिक ईरानी (Manik Irani) को बॉलीवुड का फ़ेमस विलेन बना दिया. इस फ़िल्म में उन्होंने ‘बिल्ला’ नाम के विलेन का किरदार निभाया था. दर्शक आज भी माणिक को ‘बिल्ला’ के नाम से ही जानते हैं. हालांकि, माणिक ने इससे पहले भी विलेन के किरदार निभाए थे, लेकिन उन्हें जो पहचान उन्हें ‘बिल्ला’ से मिली वो किसी और किरदार से नहीं मिली. इसके अलावा मानिक ने क़रीब 10 फ़िल्मों में ‘बिल्ला’ का किरदार निभाया था.

Manik Irani AKA Billa

navbharattimes

ये भी पढ़ें: जानिए आज किस हाल में है 90’s का शातिर विलेन ‘इंस्पेक्टर गोडबोले’ उर्फ़ सदाशिव अमरापूरकर

अब कहां हैं और क्या कर रहे हैं मानिक?

मानिक ईरानी (Manik Irani) ने अपने 35 सालों के बॉलीवुड करियर में क़रीब 100 फ़िल्मों में काम किया था. वो आख़िरी बार साल 2001 में बॉलीवुड फ़िल्म ‘बदला औरत का’ में नज़र आये थे. इसके कुछ समय बाद मानिक एक दिन अचानक से ग़ायब हो गए और किसी को उनके बारे में कुछ पता नहीं चला. लेकिन उनके जानने वालों का कहना था कि मानिक को शराब की लत लग चुकी थी और फ़िल्में भी नहीं मिल रही थीं. ऐसे में वो हद से ज़्यादा शराब पीने लगे और इसी के चलते उनकी मौत हुई. हालांकि, मानिक की मौत को लेकर आज तक कोई वजह सामने नहीं आ पाई है, लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने सुसाइड किया था.