बॉलिवुड एक्टर सोनू सूद लगातार प्रवासी मज़दूरों को उनके घर भेजने की मुहिम में लगे हैं. बस, ट्रेन के बाद अब प्लेन से भी इन प्रवासियों को उनके गृहराज्य तक पहुंचाने में सोनू सूद मदद कर रहे हैं. इस कड़ी में मंगलवार को एयर एशिया इंडिया द्वारा संचालित एक चार्टर्ड उड़ान में मंगलवार को मुंबई से असम के सिलचर में 180 से अधिक प्रवासी श्रमिकों को वापस घर भेजा गया. ऐसा सोनू सूद की मदद से ही संभव हो पाया है.  

Source: indiatvnews

सोनू सूद ऐसा पहले भी कर चुके हैं. उन्होंने केरल के एर्नाकुलम में फंसी 177 लड़कियों को एयरलिफ़्ट करवाया था. ये सभी लड़कियां लोकल फैक्‍ट्री में सिलाई और कढ़ाई का काम करती थीं और कोविड-19 के कारण फ़ैक्ट्री बंद होने से वहीं फंस गईं थीं.  

एयर एशिया इंडिया के सेल्स एंड डिस्ट्रीब्यूशन हेड अनूप मंजेश्वर ने कहा कि इस पहल में सोनू सूद के साथ काम करना बेहद ख़ुशी की बात है, जिसने कई अन्य लोगों को इन प्रयासों का समर्थन करने के लिए प्रेरित किया.  

उन्होंने आगे कहा, “ ‘उम्मीद की उड़ान’ बैनर के तहत ये हमारी 12वीं उड़ान है, जिसके ज़रिए 180 प्रवासी मेहमानों को मुंबई से असम के सिलचर पहुंचाया गया है.”  

कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन में लाखों मज़दूर देश के अलग-अलग हिस्सों में फंस गए थे, ऐसे प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए ही एयर एशिया इंडिया द्वारा ‘उम्मीद की उड़ान’ पहल की शुरुआत की गई.   

Source: twitter

गौरतलब है कि क़रीब दो महीने तक लॉकडाउन में सभी घरेलू उड़ानों पर रोक लगा दी गई थी, जिसे 25 मई से दोबारा शुरू किया गया है. हालांकि, अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक अभी भी जारी है.   

बता दें, देश में इस वक़्त 2,76,779 कोरोना संक्रमित हैं और 7,750 मरीज़ों की इस ख़तरनाक वायरस के चलते मौत हो चुकी है.