गुज़रे ज़माने की मशहूर एक्ट्रेस, डांसर और कोरियोग्राफ़र थीं ज़ोहरा सहगल. वो हमेशा ऊर्जा से भरी रहती थीं. रील और रियल लाइफ़ में उनके अंदर के चुलबुलेपन को देखकर दुखी-से-दुखी व्यक्ति भी मुस्कुरा देता था. उनका पूरा नाम साहिबज़ादी ज़ोहरा बेग़म मुमताज़ उल्लाह ख़ान था. 

independent

ज़ोहरा जी ने अपने 7 दशक के फ़िल्मी करियर में कई सुपरहिट फ़िल्मों और नाटकों में काम किया. इनमें ‘दिल से’, ‘चीनी कम’, ‘हम दिल दे चुके सनम’, ‘कभी खु़शी कभी ग़म’, ‘वीर-ज़ारा’ और ‘सांवरिया’ जैसी फ़िल्मों के नाम शामिल हैं. 

indiatoday

वर्ल्ड फ़ेमस कान्स फ़िल्म फ़ेस्टिवल में पहला अवॉर्ड जीतने वाली इंडियन फ़िल्म ज़ोहरा जी की ही थी. इस फ़िल्म का नाम था ‘नीचा नगर’. इसे फ़ेमस बॉलीवुड डायरेक्टर चेतन आनंद ने डायरेक्ट किया था. 1946 में रिलीज़ हुई इस फ़िल्म ने Palme d’Or का ख़िताब हासिल किया था. 

ये कान्स फ़िल्म फ़ेस्टिवल में दिया जाने वाला सर्वोच्च फ़िल्म पुरस्कार है. वो भारत की पहली ऐसी अभिनेत्री और डांसर थीं जिसकी प्रतिभा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली थी. ज़ोहरा जी को संगीत नाटक अकादमी, पद्म भूषण और पद्म विभूषण जैसे पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था.

imdb

ज़ोहरा जी ने पेंटर, डांसर और साइंटिस्ट कामेश्वर सहगल से 1946 में शादी की थी. उनके दो बच्चे बेटी किरन और बेटा पवन हैं. अंतिम दिनों में ज़ोहरा जी अपनी बेटी के साथ ही रह रही थीं. उनकी बेटी किरन ने साल 2012 में उनकी जीवनी लिखी थी, जिसका नाम  ‘ज़ोहरा सहगल: फै़टी’ था.

timesofindia

गूगल ने मंगलवार को ज़ोहरा सहगल जी के सम्मान में उन्हें याद करते हुए डूडल बनाया था. गूगल लगभग हर दिन किसी न किसी महान शख़्सियत को याद करते हुए डूडल बनाता है. कल ज़ोहरा सहगल जी की फ़िल्म ‘नीचा नगर’ को रिलीज़ हुए कल पूरे 74 साल पूरे हुए थे.