हम सभी ने बचपन में पापा से डांट या मार खाई है. कभी-न-कभी हम सबका दिल किया होगा कि इस मार से बचने के लिए घर से भाग जाएं या और कोई बचकानी हरकत कर दें. बचपन में ऐसे विचार आना आम हैं. लेकिन क्या आपने कभी मार, डांट से बचने के लिए या अपनी ज़िद पूरी करने के लिए पुलिस में शिकायत की है? आपने भले ​इस बारे में कभी सोचा न हो, लेकिन इटावा के ओम नारायण गुप्ता ने ऐसा किया.

बात कुछ ऐसी थी कि ओम के पिता ने उसे अपने दोस्तों के साथ नुमाइश देखने जाने से मना कर दिया. जब वो इस बात की ज़िद करने लगा, तो पिता ने पहले उसे मारा और फिर कहा जो कर पाओ कर लो.

बस इसके आगे की कहानी इस वीडियो में देखिए!

ओम की इस शिकायत के बाद इटावा पुलिस ने एक बेहतरीन उदाहरण सामने रखा. ओम की इच्छा को पूरी करने के लिए इटावा पुलिस उसे और करीब 50 और बच्चों को नुमाइश घुमाने ले गई. मेले में पुलिस ने सब बच्चों को झूले झुलाए फिर इडली-डोसा और आइसक्रीम भी खिलाई. पुलिस के साथ घूमने गए वो सारे बच्चे ग़रीब घर के थे और उनके लिए ऐसे घूमना किसी सपने जैसा ही था.

Source- Navniet Sekera

​पुलिस के इस कदम के लिए एक सैल्यूट तो बनता है.

Source- Etawah Police