आमतौर से हम ये सोचते हैं, कि बच्चों के लिए जो प्रोडक्ट्स बनते हैं, वो सबसे सेफ़ होते हैं, सबसे Mild होते हैं, और सुपीरियर Quality के होते हैं. यही सोच कर हम भी उन्हें इस्तेमाल करने लगते हैं.

शायद यही सोचा होगा Los Angeles की Eva Echeverria ने, जब 1950 से उन्होंने Johnson & Johnson का Baby Powder पर्सनल हाइजीन के लिए इस्तेमाल करना शुरू किया.

लेकिन 2007 में उन्हें Ovarian Cancer डायग्नोज़ हुआ. अपने Lawsuit में उन्होंने कहा, ‘Proximate result of the unreasonably dangerous and defective nature of talcum powder’ इसकी वजह थी. यानि, कैंसर की वजह वह पाउडर इस्तेमाल करना था, जो कि असल में बच्चों के ख़ास उपयोग के लिए बना था, और मायें आज भी बच्चे के पैदा होते ही उसका प्रयोग शुरू कर देती हैं.

Echeverria’s के Attorney, Mark Robinson ने कहा कि, "फ़िलहाल Echeverria अस्पताल में अपना इलाज करा रही हैं, और इस केस के नतीजे की वजह से कंपनी अपने कथित प्रोडक्ट्स पर Additional Warning देने के लिए मजबूर होगी."

Robinson का कहना है कि, " Echeverria बहुत बुरी हालत में हैं और उनका यही मक़सद है, कि सब Ovarian Cancer से जूझ रही औरतों को आगाह करना कि 20-30 साल से वे इतने खतरनाक प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर रही थीं. Johnson & Johnson कंपनी इस बात से परिचित थी, और उनके पास 30 साल थे इस पर काम करने के लिए जो उन्होंने ज़ाया किये."

Johnson & Johnson की spokeswoman Carol Goodrich ने एक कंपनी स्टेटमेंट में कहा, "While the company sympathizes with women suffering from ovarian cancer that scientific evidence supports the safety of Johnson’s baby powder."

Johnson & Johnson को Echeverria को $417million (£324million) की राशि प्रदान करने का निर्देश है. क्योंकि, Personal Hygeine के लिए इस्तेमाल करने पर, इससे Ovarian Cancer के प्रमाण मिले हैं.

अब तक एक हज़ार से ज़्यादा महिलाओं ने इस तरह की अपील की है, लेकिन यही सबसे बड़े राशि मानी जा रही है.

इसका मतलब ये भी है, कि बचपन से जिस महक को हम पसंद करते आ रहे हैं, उससे हमें भुलाना होगा.

Source: metro Images: experiencelife, google