लंदन में इंडियन जर्नलिस्ट असोसियेशन(यूरोप) द्वारा आयोजित ईवीएम हैकथॉन का आयोजन हुआ था. इसके बाद से भारत में राजनैतिक गर्मी बढ़ गई है.

वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए उस कार्यक्रम में भारतीय मूल का एक अमेरिकन साइबर एक्सपर्ट सैयद शुजा ने दावा किया कि EVM को हैक किया जा सकता है.

Source: thewire

सैयद सुजा के अनुसार, 2014 के लोकसभा और कई राज्यों के विधानसभा के चुनाव में EVM हैकिंग हुई है. इस बात की जानकारी होने की वजह से भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे की हत्या कर दी गई.

Source: abpnews

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर हैकर का दावा था कि वहां भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल का ट्रांसमिशन पकड़ में आ गया इसलिए वो चुनाव हार गई. शुजा ने ये भी दावा किया कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के चुनाव में उसकी टीम ने भाजपा के EVM हैकिंग के प्रायस को विफ़ल कर दिया.

कौन है सैयद शुजा?

पर्याप्त जानकारी के अनुसार सैयद शुजा अमेरिका में नौकरी करने वाला एक साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर है. उसके दावों के अनुसार, वो भारत में वोटिंग के लिए EVM मशीन बनाने वाली टीम का हिस्सा था. 2014 में उसे EVM हैक करने के लिए कहा गया और उसने ऐसा कर भी दिया. उसके बाद उसके और उसकी टीम के ऊपर हमला हुआ जिसमें उसके साथी मारे गए और वो बच निकला.(सैयद शुजा के अनुसार)

इसके बाद से अचानक से कई मामले राजनैतिक पटल पर ऊपर आ गए. गोपिनाथ मुंडे के भतीजे धनंजय मुंडे ने गोपिनाथ मुंडे की सड़क दुर्घटना की रॉ से जांच करने की मांग उठाई है. वहीं भाजपा लंदन के हैकथॉन में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की मौजूदगी पर सवाल उठा रही है.

चुनाव आयोग ने भी सैयद शुजा के दावों का खंडन कर अपना पक्ष रखा है.

आपको बता दें कि सैयद शुजा ने सिर्फ़ दावे किये, उनके द्वारा किसी प्रकार के सबूत सामने नहीं रखे गए.

Source: news18