अक्सर ऐसा देखा गया है कि एक ख़ूबसूरत रिश्ते में बंधे दो लोग एक-दूसरे के साथ अपनी इंटिमेट फ़ोटोज़ या वीडियो शेयर करते हैं, इस भरोसा पर कि ये उन दोनों के बीच ही रहेंगी. लेकिन पिछले कुछ समय से ऐसे कई मामले सामने आये हैं जहां रिश्ते में खटास आने के बाद, बदला लेने के लिए यही इंटिमेट फ़ोटोज़ सोशल मीडिया पर बेझिझक पब्लिक कर दी गयी हैं.

Source: ABC News

ऑस्ट्रेलिया ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन कि एक रिपोर्ट के अनुसार, 'Revenge Porn' की इन बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए फ़ेसबुक ऑस्ट्रेलिया ने एक सरकारी एजेंसी के साथ भागीदारी की है. अगर किसी को इस बात की चिंता या डर है कि कहीं उनकी पर्सनल इंटिमेट फ़ोटोज़, फ़ेसबुक या इंस्टाग्राम पर पब्लिक्ली शेयर न हो जाएं, तो उन्हें ऑस्ट्रेलिया के ई-सेफ़्टी कमिशनर से संपर्क करना होगा. इसके बाद वो आपको अपने ही फ़ेसबुक मैसेन्जर पर ख़ुद को ये इंटिमेट फ़ोटोज़ भेजने के लिए कह सकते हैं.

एक बार जब ये तस्वीरें मैसेंजर के द्वारा भेजी जा चुकी होंगी, फ़ेसबुक अपनी 'हैश' टैकनॉलजी का प्रयोग करके, इन तस्वीरों का एक डिजिटल प्रिंट या लिंक बना देगा. फिर भविष्य में अगर कभी किसी ने उस डिजिटल प्रिंट या हैश वैल्यू की फ़ोटो को अपलोड करना चाहा, तो उसे रोका जा सकता है.

Source: TheNewsMinute

फ़ेसबुक के ग्लोबल सुरक्षा प्रमुख, एंटीगोन डेविस का कहना है, 'फ़ेसबुक कम्युनिटी की सुरक्षा और भलाई हमारी सबसे पहली प्राथमिकता है. ऑस्ट्रेलिया उन चार देशों में से एक है जो 'इंडस्ट्री-फ़र्सट' पायलट में हिस्सा ले रहा है जिसमें अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग करके ग़लत नियत से हो रही तस्वीरों की री-शेयरिंग से बचाया जा सकता है.'

Source: TheNewsMinute

Feature Image Source: WessexScene