भारत में ज़्यादातर लोगों को शादी, शान-ओ-शौकत दिखाने का ज़रिया होती हैं और शादी समारोह में पैसा पानी की तरह बहाया जाता है. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो इस फ़िजूलखर्ची से बचते हैं और सही जगह पैसे लगाते हैं. महाराष्ट्र के जयंत भोले के परिवार ने एक अच्छा उदाहरण पेश किया है. उन्होंने शादी में पैसा बहाने के बजाय, 1.7 लाख की रकम, एक गांव में R.O. प्लांट लगवाने के लिए दान की है.

जयंत भोले ने 11 फरवरी को अपने बेटे की शादी की थी. उन्होंने ये रकम जलगांव ज़िले के Varkhede गांव में दान की. शादी में किसी भी प्रकार की फ़िजूलखर्ची करने से बचा गया. इस शादी में न तो डीजे बुलाया गया, न घोड़ी पर दूल्हा आया और न ही पटाखे जलाये गए. इस तरह बचाया गया पैसा उन्होंने गांव में R.O. प्लांट लगवाने के लिए दान कर दिया, ताकि गरीबों को भी साफ़ पानी मुहैया हो सके.

जयंत 'Art Of Living' के अनुयायी हैं. वो बताते हैं कि इस शादी में दोनों परिवारों के बीच भी पैसे का कोई लेन-देन नहीं हुआ. उनके दिए हुए पैसों से अगले महीने तक गांव में पानी का प्लांट लग जायेगा.

यही नहीं, जयंत समय-समय पर गांव वालों की मदद भी करते रहते हैं. जब महाराष्ट्र में सूखा पड़ा था, तब भी उन्होंने गांव में पानी के पांच टैंकर भिजवाए थे. वो चाहते हैं कि अन्य समर्थ लोग भी इस तरह ज़रूरतमंदों की मदद करें. हम तहे दिल से जयंत की इस पहल की सराहना करते हैं. यदि शादियों में खर्च होने वाले फ़िज़ूल के पैसे को किसी ज़रूरतमंद के लिए लगाया जाये, तो नवविवाहित जोड़े को भी दुआएं मिलेंगी.