भारतीय सेना की स्थापना 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा की गयी थी. इसका मकसद लोगों की हिफ़ाजत के साथ-साथ देश की रक्षा करना था. अंग्रेज़ों के चले जाने के बाद भारतीय सेना पूरी तरह से भारत सरकार के नियंत्रण में आ गई. आज़ादी के एक साल बाद ही 1948 में भारतीय सेना को न चाहते हुए भी युद्ध के मैदान में उतरना पड़ा. इसके बावजूद सेना ने अपना लोहा मनवाया. दुश्मनों के नापाक इरादों को तोड़ने के लिए आज़ादी के बाद सेना को कई बार युद्ध लड़ना पड़ा, जिनमें उन्हें कई ऑपरेशन्स भी चलाने पड़े. आज हम आपको भारतीय सेना द्वारा किये गये कुछ ऐसे ही चर्चित ऑपरेशन्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने भारत का सर फ़क्र से ऊंचा कर दिया था.

1. ऑपरेशन पोलो

Source: Militaryrussia

ऑपरेशन पोलो हैदराबाद की पुलिस का Code है. इस ऑपरेशन को सितम्बर 1948 में चलाया गया था. ये एक सैन्य अभियान था, जिसमें भारतीय सशस्त्र बलों ने निज़ाम-शासित रियासत पर हमला किया और इसे भारतीय संघ में शामिल करने का ज़िम्मा उठाया.

2. ऑपरेशन विजय (1961)

Source: Rusplt

आज़ादी के बाद ब्रिटिश और फ्रांस के सभी अधिकार ख़त्म हो गए थे. इसके बावजूद भारतीय उपमहाद्वीप गोवा, दमन और दीव में पुर्तगालियों का शासन था. पुर्तगाली बार-बार बातचीत की मांग को ठुकरा रहे थे, जिसके बाद भारत सरकार ने ऑपरेशन विजय के तहत 18 दिसंबर 1961 में सेना की छोटी टुकड़ी भेज कर उनके खिलाफ़ कार्यवाही की.

3. ऑपरेशन मेघदूत

Source: Indiatimes

सियाचिन संघर्ष को सियाचिन युद्ध के रूप में भी पहचाना जाता है. कश्मीर में विवादित सियाचिन ग्लेशियर क्षेत्र पर भारत और पाकिस्तान अपना-अपना अधिकार बताते रहे हैं. सैन्य दृष्टि से सियाचिन एक महत्वपूर्ण स्थान है, जहां से पाकिस्तान को खदेड़ने के लिए भारतीय सेना ने 1984 में ऑपरेशन मेघदूत चलाया था. भारतीय सेना की कोशिशों और सरकार की कुटनीति की वजह से आज सियाचिन पर भारतीय तिरंगा लहराता है.

4. ऑपरेशन विराट

Source: Indian Defencereview

श्रीलंका में लिबरेशन टाइगर्स ऑफ़ तमिल ईलम (LTTE) और सेना के बीच गृहयुद्ध को समाप्त कर शांति बहाल करने के लिए भारत ने 1987 में एक संधिपत्र हस्ताक्षर किया. इसके तहत भारतीय सेना ने भारतीय शांति रक्षा सेना (IPKF) का गठन किया, जिसने 1987 से ले कर 1990 तक श्रीलंका में Peace Keeping Operation विराट चलाया.

5. Operation Cactus

Source: Postpickle

नवंबर 1988 में तमिल इलम के 'पीपुल्स लिबरेशन ऑर्गेनाइजेशन' के उग्रवादियों ने मालदीव पर हमला किया. भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ की सूचना के आधार पर भारतीय सेना ने एक ऑपरेशन चलाया, जिसका नाम Operation Cactus दिया गया. इस ऑपरेशन को पूरा करने में भारतीय वायुसेना का बहुत बड़ा योगदान था.

6. ऑपरेशन विजय (1999)

Source: Indiatoday

1999 में भारत-पाकिस्तान कारगिल युद्ध के दौरान ऑपरेशन विजय चलाया गया था. इसका उद्देश्य भारतीय सीमा पर कब्ज़ा जमाये पाकिस्तान की सेना और कश्मीरी उग्रवादियों को बाहर खदेड़ना था.

7. Operation Allout

Source: Fossbytes

आंतकियों का सफ़ाया करने के उद्देश्य से ये ऑपरेशन असम में 2014 में चलाया गया था. इस ऑपरेशन में सेना, अर्धसैनिक बल, राज्य पुलिस व वायु सेना ने साथ मिल कर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया था.

8. Meghna Heli Bridge

Source: Wikivisually

ये ऑपरेशन 1971 में भारतीय सेना और बंगलादेश की मुक्ति वाहिनी सेना ने मिल कर चलाया गया था. इस ऑपरेशन का मकसद मेघना नदी का पुल पार कर उसे पाकिस्तानी एयर फाॅर्स से सुरक्षित रखना था.

9. ऑपरेशन राहत

Source: Flickr

2013 में भारतीय सेना द्वारा चालाया गया ऑपरेशन राहत अब तक लोगों को बचाने वाला सबसे बड़ा मिशन था. 17 जून 2013 को 20 हजार लोगों को बाढ़ से सुरक्षित निकाला गया था, जो अपने आप में एक बहुत बड़ा रिकॉर्ड है.

10. ऑपरेशन ब्लू स्टार

Source: Dna India

पंजाब से खालिस्तान के खात्मे के लिए भारतीय सेना ने 1984 में 'आपरेशन ब्लू स्टार' चलाया. इसके तहत भारतीय सेना ने 3 जून 1984 को अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में छिपे खालिस्तान समर्थक जनरैल सिंह भिंडरावाला और उनके समर्थकों पर हमला किया. इस ऑपरेशन को सफ़ल बनाने में पंजाब पुलिस का बहुत बड़ा योगदान था.

भारतीय जवान माइनस डिग्री तापमान में भी सदा देश की रक्षा के लिए 24 घंटे सीमा पर तैनात रहते हैं. देश के लोगों को जब भी कोई दिक्कत होती है, तो सबसे पहले सेना मदद करने के लिए आगे आती है. सच बात तो ये है कि जब हम अपने घरों में चैन की नींद सो रहे होते हैं, तब ये वीर सिपाही हमारी रक्षा के लिए बिना पलक झपकाये जागते हैं. ग़ज़बपोस्ट की ओर से भारतीय सेना को सलाम.