नए साल की शुरुआत हो तो ऐसी जैसी फिनलैंड में हुई है. फिनलैंड से एक खबर आ रही है कि यह देश अपने बेरोजगार नागरिकों को बेसिक इनकम (मूल मासिक भत्ते) के तौर तकरीबन 40000 रुपये यानि कि 587 अमेरिकी डॉलर देगा. इस फैसले के बाद से फिनलैंड में बेरोजगारों के लिए यह साल असल में खुशियों से भरा साबित हो रहा है.

Source: disciplestoday

इस तरह के अनूखे फैसले के कारण फिनलैंड बेरोजगारों को मासिक आय देने वाला यूरोप में पहला देश बन गया है. फिलहाल इस योजना को ट्रायल के तौर पर लॉन्च किया गया है. जहां सरकार ने लालफीताशाही, गरीबी कम करने और रोजगार बढ़ने की उम्मीद जताई है.

Source: amarujala

आपको बता दें कि फिनलैंड सरकार की एजेंसी KELA के ओली कंगस ने बताया, 'यह ट्रायल दो साल के लिए शुरू किया गया है और इसके लिए 2000 हजार बेरोजगारों को चुना गया है, जिन्हें 1 जनवरी से इस सुविधा का फायदा मिलेगा.' गौरतलब है कि इस सुविधा को पाने वाले लोगों को यह भी बताना जरूरी नहीं है कि वे पैसा कहां खर्च कर रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फिनलैंड एक ऐसा देश है, जहां के प्राइवेट सेक्टर में औसतन एक व्यक्ति हर महीने 3 हजार 500 यूरो यानी लगभग ढाई लाख रुपये कमाता है. जिन लोगों को इस योजना का फायदा उठाने के लिए चुना गया है, अगर उन्हें बाद में नौकरी मिल जाती है, तो भी सरकार की तरफ से उनको ये बेरोजगारी भत्ता मिलता रहेगा. फिनिस गवर्नमेंट के मुताबिक़, अगर यह योजनासफल रहती है, तो बाद में इसे दूसरे कम इनकम वाले लोगों के लिए भी शुरू किया जाएगा.

Source: indiatimes

गौरतलब है कि बेरोजगारी भत्ते की योजना की शुरुआत 1 जनवरी से हो गई है. आपको बता दें कि 5.5 मिलियन आबादी वाले देश फिनलैंड में बेरोजगारी की दर पिछले साल नवंबर में 8.1 फीसदी थी. पिछले साल के आंकड़े मुताबिक, इस देश में करीब 2,13,000 लोग बेरोजगार हैं.

हाल ही में न्यूजवीक पत्रिका द्वारा कराए गए सर्वे में फिनलैंड को सर्वश्रेष्ठ देश का दर्जा दिया गया है. गौरतलब है कि सौ देशों की इस लिस्ट में भारत को 78वें नंबर पर है. भारत के अलावा इस लिस्ट में सिंगापुर, मलेशिया और श्रीलंका क्रमशः 20वें, 37वें और 66वें नंबर पर मौजूद हैं.

Source: indiatimes