बिहार का टॉपर घोटाला मीडिया में क्या आया, दूसरे राज्य भी फूंक-फूंक के कदम रखने लगे. उत्तर प्रदेश तो बिहार के इस घोटाले से इतना डरा कि उसने छात्रों की कॉपी ही वेबसाइट पर डालने का फ़ैसला ले लिया.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक, राज्य के डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर और शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा ने 10वीं और 12वीं के नतीजों में पारदर्शिता बनाये रखने के लिए ये फ़ैसला लिया है.

Source: PTI

मंत्री के इस फ़ैसले के बाद UP स्टेट बोर्ड के 10वीं की टॉपर तेजस्वी देवी (95.83%) और 12वीं की टॉपर प्रियांशी वर्मा (96.20%) के साथ ही अन्य तीन रैंक वाले टॉपरों के पेपरों को ऑनलाइन डाला जायेगा.

पहले रिश्तेदार फ़ोन करके मार्क्स पूछा करते थे, पर यूपी में तो रिश्तेदार अब सीधा पेपर ले कर ही आ जायेंगे.

Source: scoopwhoop

Feature Image Source: rediff