सारा झगड़ा ही ख़्वाहिशों का है,
न ग़म चाहिए और न कम!

हम इंसानों के साथ न एक बड़ी ही अजीब दिक्कत होती है. वो ये है कि हमारी ख़्वाहिशें कभी ख़त्म होने का नाम ही नहीं लेती. लाइफ़ में जितना मिलता है, हमेशा वो कम लगता है. बचपन में खिलौनों की डिमांड ख़त्म नहीं होती और अब पैसों की.

अब जैसे बचपन में पढ़ाई से पीछा छुड़ाने के लिए हम बड़े होने का इंतज़ार करते थे, तो वहीं अब बड़े होकर हर पल ये लगता है कि यार काश हम बच्चे ही रहते हैं. सच में उस समय न तो पैसे ख़त्म होने की टेंशन होती थी और न ही किसी के रुठने-मनाने की. बचपन में अगर हमें किसी चीज़ से कोई मतलब होता था, तो वो सिर्फ़ खेलने और खाने से होता. इसके अलावा कोई हमारा बाल-बांका भी नहीं कर सकता था.

इतना ही नहीं, आज अगर सोशल मीडिया पर हमारी कोई एक गंदी तस्वीर भी डाल दे, तो हम उसे तुरंत डिलीट या हाइड कर देते हैं. लेकिन जनाब बचपन में हम कितने बेपरवाह होकर फ़ोटो खिंचवाते थे, इसका सबूत हैं कुछ लोगों की ये चंद तस्वीरें.

1. अपने बर्थ-डे की याद आ गई न?

2. हमें बेवजह ख़ुश रहना आता था.

3. आज के टाइम पर कोई ऐसी तस्वीर डाल दे, तो कसम से बवाल ही हो जाए.

4. भाई-बहन का प्यार भी अनमोल होता है.

5. तब पोज़ का आईडिया कहां होता था.

6. खेल-खेल में काम की चीज़ सीख लेते थे.

7. स्कूल डेज़ तो बेस्ट थे.

8. कोई वापस लौटा दे बचपन के वो सुनहरे दिन.

9. स्कूल कंपीटशन में जीत का जोश होता था.

10. अरे-अरे ये तस्वीर तो किसी का भी दिल जीत ले.

11. स्कूल के लिए तैयार हैं हम!

12. ऐसी पागलपंती तो सिर्फ़ बचपन में ही होती थी.

13. तब किसी से कोई शिकायत भी नहीं होती थी.

14. ये सब सही खान-पान का असर है.

15. घूमने के लिए हमेशा तैयार रहते थे.

16. फ़र्श पर हों या बेड पर कपड़े तो मम्मी को ही धुलने है न!

17. जन्मदिन पर अलग ही टशन होता था.

18. चलो कहां चलना है.

19. फ़ोटो खिंचाने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे.

20. दुल्हन की तरह तैयार होना ख़ास शौक था.

21. तब ट्रिप पर जाने से पहले सोचना नहीं पड़ता था.

22. इस बार परी वाली ड्रेस पहनकर ही रहूंगी.

23. एक-दूसरे के प्रति कोई छल नहीं होता था.

24. ग्रुप में किसी को लुक्स की परवाह नहीं होती थी.

25. इस मुस्कान पर हर कोई फ़िदा रहता था.

26. बस हम ही हम होते थे.

27. भाई-बहन की ये जोड़ी क्यूट है.

ये प्यारी-प्यारी तस्वीरें देख कर आप भी अपने बचपन में खो गए न, क्या करें बचपन होता ही इतना प्यारा है. अगर आपके पास भी कोई ऐसी यादगार तस्वीर है, तो हमसे शेयर कर सकते हैं और हां कमेंट में बताना ज़रूर कि पोस्ट कैसा लगा.