पूरी दुनिया इस वक़्त कोरोना महामारी की चपेट में हैं. इस ख़तरनाक वायरस के चलते लोग घरों में रहने को मजबूर हैं. ऑफ़िस का काम हो या फिर पढ़ाई, हर चीज़ घर से ही हो रही है. महीनों से घर में बंद रहना सच में अब भारी पड़ने लगा है.

Source: indiatimes

हालांकि, गेमर्स के लिए ये तो किसी सपने के सच होने जैसा है क्योंकि उन्हें दिनभर घर पर खाली बैठकर गेम खेलने का मौका मिल रहा है. ऐसा लगता है कि इसी मज़े के चलते बहुत से लोगों का रुझान इस वक़्त गेमिंग की ओर बढ़ा है.

कंसल्टेंसी एजेंसी डीएफ़सी इंटेलिजेंस के एक हालिया अध्ययन से पता चला है कि इस वक़्त पृथ्वी पर 40 फ़ीसदी आबादी रेगुलर गेमर है. यानि कि दुनिया की क़रीब 3.1 बिलियन खिलाड़ी शामिल हैं, जो वाकई में बहुत बड़ी संख्या है.

सबसे ज़्यादा पेड गेमर्स एशिया में हैं

Source: parents

एशिया में कुल 1.42 बिलियन पेड गेमर्स हैं. इसमें सिर्फ़ भारत और चीन ही नहीं, बल्कि दक्षिण-पूर्व एशिया के भी कई देश शामिल हैं. वहीं, 668 मिलियन पेड गेमर्स के साथ यूरोप दूसरे तो 383 मिलियन और 261 मिलियन पेड गेमर्स के साथ लैटिन अमेरिका और उत्तरी अमेरिका क्रमश: तीसरे और चौथे नंबर पर हैं.

PC गेमर्स के मामले में भारत दूसरे नंबर पर

Source: nuortennetti

दुनिया में 1.5 बिलियन गेमर्स के साथ पीसी गेमर्स दूसरे नंबर पर हैं. इस लिस्ट में 300 मिलियन यूज़र्स के साथ चीन पहले नंबर पर तो क़रीब आधे यानि कि 150 मिलियन यूज़र्स के साथ भारत का दूसरा स्थान है.

कंसोल गेमर्स की तादाद कम, लेकिन पैसा करते हैं ज़्यादा ख़र्च

Source: chairshq

दुनिया भर के कुल 3.1 बिलियन गेमर्स में से केवल 8 प्रतिशत में कंसोल गेमर्स शामिल हैं. लेकिन इसके बावजूद, वे खेल में सबसे अधिक पैसा खर्च करने वाले भी हैं. हालांकि, कंसोल गेम की क़ीमत को देखते हुए ये उतनी चौंकाने वाली बात नहीं है. एक्सक्लूसिव कंसोल टाइटल पीसी पर आसानी से मिलते ही नहीं, इसलिए प्लेयर्स को खेलने के लिए कंसोल ख़रीदना पड़ता है.

मोबाइल गेमर्स की संख्या सबसे ज़्यादा

Source: inc42

पीसी-कंसोल गेम को तो एक तरफ़ रख दें. सबसे बड़ी तादाद तो मोबाइल गेमर्स की है. सभी वीडियो गेम यूज़र्स की क़रीब आधी आबादी मोबाइल गेमर्स की है, जो बहुत बड़ी संख्या है. ऐसे में चौंकाने वाली बात नहीं है कि इतने सारे लोग PUBG, Fortnite और ऐसे ही अन्य गेम डाउनलोड करके बिना ब्रेक खेल रहे हैं.