सामूहिक बलात्कार की Survivor और 4 बार एसिड अटैक का शिकार हो चुकी महिला के साथ 5वीं बार एसिड अटैक हुआ. रविवार को 35 वर्षीय पीड़िता पर एक व्यक्ति ने एसिड फेंका.

महिला उत्तर प्रदेश की राजधानी, लखनऊ के एक Women's Hostel में रह रही थी. हमला करने वाला हॉस्टल की दीवारें फांदकर अंदर घुसा और महिला पर केमिकल डाल दिया.

Source: Indian Express

लोकल पुलिस चीफ़, विवेक त्रिपाठी ने बताया,

'महिला हैंड पंप से पानी भर रही थी, जब उस पर हमला हुआ. हमलावर, एसिड फेंक कर फ़रार हो गया.'

महिला को चेहरे और कंधे पर चोटें आईं हैं और उसका इलाज चल रहा है. हमलावर की खोज शुरू हो चुकी है.

कई बार हमले का शिकार हो चुकी महिला, 24 घंटे पुलिस की निगरानी में थी. पर पुलिस वालों को हॉस्टल के अंदर आने की इजाज़त नहीं थी. यहां कई सवाल उठते हैं कि पुलिस की निगरानी में रहने के बावजूद हमलावर हमला करने में कैसे कामयाब हो गया?

Source: Nation

प्रॉपर्टी के झगड़े के कारण, 2 लोगों ने 2008 में महिला के साथ बलात्कार किया था. 2012 और 2013 में इन्हीं दो आदमियों ने महिला पर दोबारा हमला किया था. ये दोनों आदमी महिला पर केस वापस लेने का दबाव बना रहे थे.

कुछ दिनों पहले, मार्च में इसी महिला को एसिड पीने पर मजबूर किया गया था. महिला अपनी एक बेटी के साथ ट्रेन में सफ़र कर रही थी. दोनों आदमियों पर मुक़दमा तो चला पर अप्रैल में दोनों ज़मानत पर छूट गए.

Source: Prison Photography

गौरतलब है कि एसिड अटैक और बलात्कार को लेकर अपने देश में कड़े कानून है. महिला पर 5वीं बार हमला, इस बात का सुबूत है कि देश में कानून तोड़ने वालों को किसी का डर नहीं है. जब भी किसी औरत, लड़की या महिला की के साथ बलात्कार या एसिड अटैक होता है तो पूरा देश सड़कों पर उतर जाता है, पर ज़िन्दगी बचाने के लिए बहुत कम लोग ही आगे आते हैं.

बहरहाल, हम उस महिला के हौसलों को सलाम करते हैं, जिसने ज़िन्दगी से हार मानने के बजाय, हालात से लड़ने का फ़ैसला किया.

Source: BBC

Feature Image Source: Prison Photography