लोग कहते हैं कि आज के ज़माने में कोई भी व्यक्ति, कोई काम बिना लोभ के नहीं करता. अगर किसी अंजान की मदद की बात हो, तब तो आप उम्मीद छोड़ ही दें. लोगों की ऐसी सोच कुछ हद तक जायज़ है, लेकिन कई लोग ऐसे हैं, जिन्होंने इंसानियत के बीच लोभ को आने नहीं दिया. बीते रविवार को गुड़गांव के रहने वाले रिक ग्रीन और वीनस ग्रीन का पालतू डॉगी 'Rexy' लापता हो गया था.

रिक और वीनस आॅ​स्ट्रेलिया के रहने वाले हैं और ​जनवरी से भारत में रह रहे हैं. दोनो अपने डॉगी से इतना प्यार करते थे कि उसके लापता होते ही, उन्होंने जगह-जगह पोस्टर लगा कर और सोशल मीडिया पर 2 लाख रुपये इनाम का ऐलान कर दिया. ये डॉगी देसी ब्रीड का था, जिसे वी​नस ने कुछ महीने पहले ही एडॉप्ट किया था.

इस ऐलान के बाद दोनों के पास खूब फ़ोन आने लग गए, लोगों ने शहर के अलग-अलग कोनों से उन्हें फ़ोन कर के जानकरी दी. इसी बीच, मंगलवार दोपहर सिसपाल विहार से उन्हें अपने Rexy की जानकारी मिली और उसे खोज लिया गया.

2 लाख रुपये की इनामी राशि लेने से कर दिया इंकार

Rexy के मिलने के बाद जब रिक ने जानकारी देने वाली लड़की को इनामी राशि देने के लिए फ़ोन किया, तो उन्होंने पैसे लेने से इनकार कर दिया.

रिक ने बताया कि, 'मेरा डॉगी दो दिन से सड़कों पर टहल रहा था. इस लड़की ने मुझे फ़ोन कर के बताया कि उसने Rexy को अपनी सोसाइटी के पार्किंग एरिया के पास टहलते हुए देखा है. जब हमने उसका शुक्रिया अदा करने और इनामी राशि के लिए फ़ोन किया, तो लड़की की मां शैली ने पैसे लेने से इनकार ​कर दिया.'

रिक का कहना है कि वो आज फिर उनके घर उन दोनों को मनाने जाएंगे. अगर वो पैसे लेने से मना कर देती हैं, तो वो उन पैसों को जानवरों की चैरिटी में दान कर देंगे.

Source- Hindustan Times