कुछ दिनों पहले दिल्ली के रघुवीर नगर में 23 वर्षीय अंकित सक्सेना की एक मुस्लिम लड़की से प्रेम के चलते लड़की के घरवालों द्वारा हत्या कर दी गई थी. इस हत्या ने सारे देश को दहला दिया था और सोचने पर मजबूर कर दिया था कि देश की राजधानी दिल्ली जैसे शहर में भी ऑनर किलिंग जैसी घटनाएं हो सकती हैं.

इस मामले में दिल्ली पुलिस ने लड़की के पिता और उसके चाचा को हिरासत में लिया है, जिन्होंने हत्या की बात को कबूल भी किया. मीडिया रिपोर्ट्स का कहना है कि अंकित की हत्या को ले कर दोनों में से किसी को कोई पछतावा नहीं है.

ख़बरों के मुताबिक, अंकित और शहज़ादी पिछले तीन सालों से रिलेशनशिप में थे और दोनों शादी करना चाहते थे. लड़की के घरवाले इस बात के ख़िलाफ़ थे कि उनकी बेटी किसी अन्य धर्म के लड़के के साथ शादी करे. बीते गुरुवार अंकित अपने घर से निकला ही था कि शहज़ादी के परिवार वालों ने उसे रोक लिया और बहस शुरू कर दी.

घटना स्थल पर मौजूद लोगों के मुताबिक शहज़ादी की मम्मी अंकित की मम्मी के साथ हाथापाई करने लगी. इसी बीच शहज़ादी के चाचा मोहम्मद सलीम और उसके भाई भाइयों ने अंकित को पकड़ लिया और उसके पिता अकबर अली ने अंकित के गले पर 8 इंच के चाक़ू से वार कर दिया, जिससे घटना स्थल पर ही अंकित की मौत हो गई.

Source: scoopwhoop