हमारे देश की जनता मेहनत और कर्म से ज़्यादा दिव्य शक्तियों में विश्वास करती है. दिव्य शक्ति यानि किसी तरह का जादू या चमत्कार. ये जादू और चमत्कार की मोहमाया ही है, जो लोगों को ढोंगी बाबाओं तक खींच कर ले जाती है. वहीं बाबा मासूम जनता की भावनाओं का फ़ायदा उठाकर, उन्हें कुछ भी ऊट-पटांग सलाह देते हैं और कमाल की बात ये है कि लोग विश्वास भी कर लेते हैं.

अब हाल ही में स्वामी नित्यानंद ने CGI (कंप्यूटर ग्राफ़िक्स इमेज) की मदद से एक वीडियो तैयार किया, जिसमें वो बेहद नाटकीय अंदाज़ में जनता को बेवकूफ़ बनाते दिखाई दे रहे हैं. वीडियो में आप देख सकते हैं कि नित्यानंद के हाथ से धुंआ निकल रहा है, ठीक बिल्कुल वैसे जैसे धार्मिक धारावाहिकों में देवता बने Actor के हाथ से निकलता है. उससे भी ज़्यादा फनी है वीडियो का साउंड. हांलाकि, ये वीडियो बनाते वक़्त उन्होंने सोचा नहीं होगा कि इस पर सोशल मीडिया के धुरधंर तफ़री ले लेंगे.

नित्यानंद के नये वीडियो पर ये फ़नी ट्वीट्स देखिए:

यही नहीं, इससे पहले दावा करते हुए कहा था कि उसने एक ऐसा साफ़्टवेयर बनाया है, जिससे गाय, शेर, बंदर संस्कृत और तमिल में बात कर सकेंगे. नित्यानंद के अनुसार, वो इस साफ़्टवेयर का सफ़ल परीक्षण भी कर चुका है. मतलब इन्होंने तो बड़े-बड़े वैज्ञानिकों को भी फ़ेल कर दिया.

Source: storypick

वैसे नित्यानंद को ये साधु वाली ज़िंदगी शोभा नहीं देती, क्योंकि अगर वो शोध के मामले में महान वैज्ञानिक आइंस्टीन के E=mc^2 Formula को ग़लत बता सकते हैं, तो क्या-क्या नहीं कर सकते.

नित्यानंद जैसे लोगों की वजह से साधु-संतों पर से विश्वास उठता जा रहा है.