मोदी कैबिनेट ने देश में वीआईपी संस्कृति समाप्त करने के लिए एक बड़ा और अहम फै़सला लिया है. कैबिनेट ने वीआईपी कल्चर खत्म करने के उद्देश्य से गाड़ियों में लाल बत्ती पर बैन के फ़ैसले पर मुहर लगा दी. ये फ़ैसला 1 मई यानि मजदूर दिवस से लागू हो जाएगा. सिर्फ़ इमरजेंसी गाड़ियों पर ही लाल बत्ती लगाई जा सकेगी.

कैबिनेट मंत्रियों सहित खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गाड़ी पर भी लाल बत्ती नहीं लगेगी. सिर्फ़ इमरजेंसी सेवा और आपदा प्रबंधन से जुड़े वाहनों को ही इससे छूट रहेगी. अभी तक मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कई लोगों को लाल बत्ती लगाने का अधिकार था. कैबिनेट के इस फ़ैसले के बाद अब किसी को भी गाड़ी पर लाल बत्ती लगाने का अधिकार नहीं होगा.

मोदी सरकार के इस फै़सले के बाद मंत्री से लेकर संत्री तक और आम जनता से लेकर बड़ी हस्ती तक सभी VIP हो जाएंगे.

Source: politicalmirror

वहीं इस फ़ैसले पर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, 'हमारी सरकार आम लोगों की सरकार है इसलिए हमने लाल बत्ती और हूटर्स का वीवीआईपी कल्चर ख़त्म करने का फ़ैसला किया है.' मंत्री ने इसे बड़ा लोकतांत्रिक फ़ैसला बताते हुए कहा कि जल्द ही इस विषय में नोटिफ़िकेशन जारी किया जाएगा.

Source: uttarpradesh

सड़क परिवहन मंत्रालय में इस पर काम चल रहा था. इससे पहले, पीएमओ ने इस मुद्दे पर चर्चा के लिए एक बैठक बुलाई थी. यह मामला प्रधानमंत्री कार्यालय में लगभग डेढ़ साल से लंबित था.

Source : timesofindia

Feature Image : indiatoday