विदेश में NRI पतियों द्वारा शादी में धोखाधड़ी के मामलों को बढ़ता हुआ देख, सरकार जल्द ही एक वेब पोर्टल लॉन्च करने की तैयारी में है. ये वेब पोर्टल पीड़ित पत्नियों की मदद करेगा. पीड़िता की मदद से जुड़ी सारी जानकारियां इस पोर्टल पर मौजूद होंगी, जैसे गैर-सरकारी संस्थान (जो इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं), वकीलों की जानकारी और ऐसी स्थिति में पीड़िता को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए आदि.

ये पोर्टल पीड़ित महिलाओं को उनके पति से तलाक दिलाने और बच्चों के पालन-पोषण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान कराने में मदद करेगा. पोर्टल लॉन्च करने का फैसला महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय, तीनों ने मिलकर लिया है. इस पोर्टल को विदेश मंत्रालय तैयार करेगा. विदेश मंत्रालय ने हाल में ही एक किताब ‘Marriages to Overseas Indians’ भी जारी की थी, जिसमें NRI पत्नियों की सुरक्षा और हक़ से जुड़ी बातें थीं.

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 2011-15 के बीच विदेश में NRI पतियों द्वारा उनकी पत्नियों के साथ धोखाधड़ी के 275 मामले दर्ज किए गए हैं. ज़्यादातर मामलों में पति या तो पहले से शादीशुदा होता था या फिर पत्नी को अकेला विदेश में छोड़ देता था या पत्नी से दहेज की मांग करता था.

Source: ScoopWhoop