ज़िन्दगी का कोई भरोसा नहीं, मौत ही असल हक़ीकत है. गुजरात के आनंद के एक घर में बजनी थी शादी की शहनाई, पर किस्मत को कुछ और ही मंज़ूर था.

बोरसाड शहर के एक घर में खुशियों का माहौल था. प्राइवेट कंपनी में काम कर रहा, 25 साल का बेटा बहू लाने वाला था. माता-पिता के लिए इससे ज़्यादा खुशी की बात क्या होगी?

Source: Pinimg

दुल्हन भी अपनी आने वाली ज़िन्दगी के लिए सज-संवर रही थी.

बारात निकली भी बड़े ताम-झाम और बैंड-बाजे के साथ. पर बारात दुल्हन के घर तक नहीं पहुंच पाई.

अपनी ही शादी में, अपनी बारात में नाचते हुए, एक दोस्त के कंधों पर बैठकर ही 25 साल के दूल्हे को दिल का दौरा पड़ गया. दूल्हा अपने दोस्त के कंधों से गिर पड़ा.

Source: Pagreewala

दोस्त-रिश्तेदार उसे अस्पताल लेकर गए, पर उसकी मौत हो चुकी थी. जिन दो घरों में खुशियों के दिए जलने थे, वहां मौत का सन्नाटा पसरा था.

वर पक्ष और वधू पक्ष, दोनों ही इस घटना से स्तब्ध हैं. जिसे जाना था वो तो चला गया, पीछे रह गए दुःख में विलाप करते उसके परिजन.

दिल दहला देने वाला वीडियो:

Source: HT