भले ही हमने 'रामायण' बहुत ध्यान से न पढ़ी हो, या वो टीवी सीरीयल न देखा हो, लेकिन बच्चा-बच्चा जानता है कि सीता को रावण ने किडनैप किया था. पर गुजरात बोर्ड की 12th क्लास की बुक में कुछ और ही लिखा गया है. उसमें ये बताया गया है कि सीता का अपहरण राम ने किया था. 'Introduction to Sanskrit Literature' के पेज नंबर 106 के पैराग्राफ़ में ये लिखा है कि 'जब सीता का अपहरण राम करते हैं, तो लक्ष्मण राम को ये संदेश देते हैं. इसका बहुत मार्मिक विवरण किया गया है.'

Source: Financial Times

गलती से मिसटैक

गुजराती बुक में ये पैरा संस्कृत के कवि कालीदास के महाकाव्य 'रघुवंशम' से लिया गया है. हालांकि ये ट्रांसलेशन एरर का नतीजा है. ये ग़लती सिर्फ़ ईग्लिंश मीडियम के स्टूडेंट्स की बुक में ही हुई है. Gujarat State School Textbook Board (GSSTB) के कार्यकारी अध्यक्ष, नितिन पैठानी का कहना है कि ये ट्रांसलेशन एरर है. लेकिन ट्रांसलेशन एरर के भी दो वर्ज़न निकलकर सामने आ रहे हैं- पहला, 'जब सीता का अपहरण राम करते हैं', यहां रावण की जगह गलती से राम प्रिंट हो गया. दूसरा, 'जब सीता का अपहरण राम करते हैं', यहां abandoned (परित्याग) की जगह Abducted (अपहरण) प्रिंट हो गया है.

इनमें से क्या ट्रांसलेशन मिस्टैक्स हैं, इसका जल्द पता चल जाएगा क्योंकि पैठानी ने कहा है कि वो इस मामले की जांच करवाएंगे. जिन्हें ट्रांसलेशन और प्रूफ-रीडिंग का कॉन्ट्रेक्ट दिया गया था, अगर वे दोषी पाए गए, तो वो उन्हें ब्लैकलिस्ट कर देंगे. वो स्कूल टीचर्स को इस चैप्टर को पढ़ाते हुए ग़लती सही करने के लिए कहेंगे.

लगता है इन्हें एक बार फिर 'रामायण' पढ़ने की ज़रूरत है.