कहते हैं कि 'नाम में क्या रखा है', लोग इसे जान कर बस आपके धर्म को पहचानने की कोशिश करते हैं. इसी बात से तंग आ कर गुजरात के एक ऑटो ड्राइवर ने खुद का नाम बदलने की अर्ज़ी डाल दी.

अहमदाबाद की सड़कों पर ऑटो चलाने वाले 33 साल के राजीव उपाध्याय अनीश्वरवादी हैं और ये किसी धर्म से खुद को नहीं जोड़ना चाहते, इसलिए वो अपना नाम बदल कर 'RV155677820' रखना चाहते हैं.

Source: indiatimes

इसके लिए उन्होंने अर्ज़ी भी डाली, लेकिन Gujarat Freedom of Religion Act के तहत आप सिर्फ़ अपना धर्म बदल सकते हैं और उसके साथ अपना नाम. इस कारण राजीव की ये अर्ज़ी नामंज़ूर कर दी गई.

2015 में राजीव ने अपना नाम बदलने की दरख़्वास्त अहमदाबाद के जिला कलेक्टर को भेजी थी, लेकिन राजीव की इस अर्ज़ी का कोई भी जवाब जिला कलेक्टर के पास नहीं था और उन्हें नहीं पता था कि वो इसके संदर्भ में क्या कर सकते हैं.

करीब दो साल बाद भी जब राजीव को कोई जवाब नहीं मिला, तब उन्होंने RTI के ज़रिए अपनी इस अर्ज़ी के बारे में जानने की कोशिश की. उन्हें पता चला कि इसके ऊपर किसी भी तरह का कोई एक्शन नहीं लिया गया है. राजीव चाहते हैं कि उनके इस नाम को बदल कर उनके सारी सरकारी दस्तावेज़ों पर 'RV155677820' नाम रख दिया जाए.

Source: indiatimes

ये एक नई सोच है, जो हमारे समाज में बढ़ रहे मतभेद को कम कर सकती है. आखिर ये ज़िंदगी हमारी है और हम किस नाम और धर्म से जाने जाएं, ये फ़ैसला भी हमारा होना चाहिए.