अमेरिका में एक शर्मनाक घटना घटी. नशे में धुत्त कुछ सवारियों ने जोर जबर्दस्ती कर 25 वर्षिय भारतीय सिख कैब ड्राइवर की पग उतार दी.

हरकिरत सिंह तीन साल से अमेरिका में एक अप्रवासी की ज़िंदगी बिता रहे हैं, वो भारत के पंजाब राज्य के रहने वाले हैं और इस घटना से काफ़ी डरे हुए हैं.

न्यूयॉर्क डेली न्युज़ से हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं काफ़ी डरा हुआ हूं, मैं यहां काम नहीं करना चाहता. ये मेरे धर्म और आस्था का अपमान है. ये एक भयानक घटना है.

रिपोर्ट में पुलिसिया जांच पड़ताल की बात भी कही गई है, पुलिस इस घटना को 'हेट क्राइम' से जु़ड़े हुए होने की आशंका जता रही है.

शहर के मेयर Bill De Blasio ने ट्विट के ज़रिए इस घटना की निंदा की और कहा कि हरकिरत सिंह आपका स्वागत है. जो आपके साथ हुआ वो निंदनीय है. आपने पुलिस को बुला कर अच्छा किया.

हरकिरत सिंह ने घटना का विवरण देते हुए बताया कि उसने सुबह पांच बजे मेडिसन स्कॉयर से तीन लड़कों और दो लड़कियों को कैब में बिठाया. सभी 20 वर्ष के लग रहे थे. जब वो तय गंतव्य तक पहुंच गए, तब सवारियों ने हरकिरत पर ये आरोप लगाने लगे कि तुम ग़लत जगह ले आये हो.

सिंह ने कहा, 'वो कैब को क्षती पहुंचाने और मीटर तोड़ने की कोशिश करने लगे. इतना ही नहीं, इसके बाद उन्होंने मेरी पगड़ी उतार दी और मेरा फ़ोन छीनने की कोशिश भी की थी.'

ये घटना तब घटी जब ठीक एक घंटा पहले हज़ारों सिख टाइम्स स्कॉयर पर 'Turban Day' मनाने के लिए इकट्ठा हुए थे. इसे सिख समुदाय ने आयोजित किया था, ताकी लोगों के बीच आस्था के प्रति जागरुकता लायी जा सके.

Source: indiatimes