मेवे में खट्टी-मीठी नारंगी रंग वाली किशमिश (Raisins) तो आपने खाई होगी और उसके फ़ायदे भी पता होंगे. लेकिन क्या कभी काली किशमिश खाई है? या नाम ही सुना है. अगर नहीं सुना है तो कोई बात नहीं आज हम आपको बताएंगे काली किशमिश (Black Raisins) के बारे में.

क्या होती काली किशमिश (Black Raisins)

नारंगी किशमिश हरे अंगूरों से बनती है और काली किशमिश काले अंगूरों से बनती है. इसकी तासीर गर्म होती है और ये नारंगी किशमिश से ज़्यादा फ़ायदेमंद भी होती है. इसमें प्रोटीन, कार्ब्स, फ़ाइबर, शुगर, कैल्शियम, सोडियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन सी जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं.

काली किशमिश के फ़ायदे

1. याद्दाश्त बेहतर करे

याद्दाश्त कमज़ोर होने पर काली किशमिश का सेवन करें क्योंकि इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट याद्दाश्त को मजबूत करने में सहायक होते हैं.

newstrack

2. स्किन हेल्दी रखे

काली किशमिश में होने वाले एंटी बैक्टीरियल गुण स्किन को कई समस्याओं से दूर रखते हैं. इसलिए इसका रोज़ सेवन करने से त्वचा हेल्दी और ग्लोइंग होती है.

nykaa

3. बालों को झड़ने से रोके

शरीर में आयरन और विटामिन सी की कमी होने से बाल झड़ने की समस्या शुरू होने लगती है. इसलिए अगर इस कमी को पूरा करना है और बालों को झड़ने से रोकना है तो काली किशमिश का सेवन करना शुरू करें. काली किशमिश बालों को सफ़ेद होने से रोकती है और हेल्दी बनाती है.

ये भी पढ़ें: मखाने खाने के 10 फ़ायदे, हाई ब्लड प्रेशर से लेकर बढ़ते वज़न को कम करने तक में हैं लाभदायक

nykaa

4. हार्ट पेशेंट के लिए फ़ायदेमंद

काली किशमिश में पॉलिफ़िनॉल्स और फ़ाइबर मौजूद होता है, जो बैड कोलेस्ट्रॉल और ब्लड में मौजूद फ़ैट को दूर करते हैं, जिससे हार्ट मजबूत होता है और बीमारियों से बचता है.

absopure

5. हाई बीपी कंट्रोल रहता है

काली किशमिश में पोटैशियम और फ़ाइबर भरपूर मात्रा में होता है. इसलिए इसके सेवन से हाई बीपी कंट्रोल में रहता है.

healthline

6. एनीमिया की समस्या दूर करे

पोषक तत्वों से भरपूर काली किशमिश एनीमिया पेशेंट के लिए फ़ायदेमंद होती है. इसे रोज़ खाने से खून की कमी तेज़ी से पूरी होती है.

toiimg

7. ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) में फ़ायदेमंद

काली किशमिश में बोरोन, कैल्शियम और मैग्नीशियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत करता है इसलिए ये Osteoporosis से गुजर रहे मरीज़ों के लिए बहुत फ़ायदेमंद होती है.

cloudinary

8. पाचनतंत्र रखे दुरुस्त 

काली किशमिश में फ़ाइबर होता है. इसलिए इसका रोज़ सेवन करने से पेट से संबंधित समस्याएं नहीं होती हैं और पाचनतंत्र दुरुस्त रहता है.

hindustantimes

ऐसे करें सेवन

काली किशमिश को खाने का एक तरीक़ा होता है. रोज़ रात में 7 से 8 काली किशमिश पानी में भिगोकर रख दें. सुबह उठकर सबसे पहले इसके पानी को पी लें और भीगी हुई किशमिश खा लें. ध्यान रखें कि, इसे खाने के बाद आधे घंटे तक कुछ भी न खाएं. अगर आप चाहें तो इसे किसी व्यंजन में डालकर भी खा सकते हैं.

exportersindia

काली किशमिश के नुकसान

1. किशमिश में हाई ग्लाइसेमिक (Glycemic) पदार्थ ज़्यादा होता है, इसलिए इसके अधिक सेवन से मधुमेह का ख़तरा बढ़ने की आशंका रहती है.

2. काली किशमिश में कैलोरी ज़्यादा होती है, जिससे वज़न बढ़ने का ख़तरा रहता है. इसलिए इसका सेवन कम करें.
3. जिन्हें कुछ खाने से आसानी से एलर्जी हो जाती है उन्हें काली किशमिश खाने से बचना चाहिए.

naturemate

4. काली किशमिश के ज़्यादे सेवन से आंत की समस्या होने का ख़तरा बढ़ जाता है. 

5. अधिक मात्रा में काली किशमिश खाने से दस्त भी लग सकते हैं. 

सुना भले ही देर से है, लेकिन अब इसे डाइट में शामिल करने में देर मत करना.