आप इस आर्टिकल तक पहुंचे हैं, तो शायद आप किसी सुरक्षित जगह पर होंगे, जहां आपके पास कम से कम खाना, छत, सोने के लिए एक सूखा बिस्तर और पीने के लिए पानी भी होगा. ऐसे में उन लोगों की स्थिति समझना ज़रा मुश्किल होगा, जो इस वक़्त पीने के पानी को तरस रहे हैं, खाने के लिए कतारों में खड़े हैं, जिनके सिर पर छत नहीं रही है. हम आपको इन तस्वीरों के ज़रिये उन दृश्यों को दिखा रहे हैं, जिन्हें देख कर आप अंदर तक हिल जायेंगे.

हम बात कर रहे हैं उन करोड़ों लोगों की जो इस वक़्त बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में अपनी जान बचाने के लिए जूझ रहे हैं. अब तक बाढ़ से 1200 लोग मर चुके हैं, जिसमें कई छोटे बच्चे भी शामिल हैं, जिनके शरीर को दफ़नाने के लिए भी उनके मां-बाप को सूखी ज़मीन नहीं मिल रही. करोड़ों लोग बेघर हो चुके हैं.

1. अपने नन्हें भांजे को नदी के हवाले करता एक आदमी (नेपाल)

2. अपने मवेशियों को पीढ़ पर लाद कर ले जाता आदमी (नेपाल)

3. जान बचाने की कोशिश (परसा, नेपाल)

4. पानी के बीच पीने के पानी के लिए लगी कतार (अहमदाबाद)

5. कोई समाना पानी से बचा कर ले जाती औरत (बिहार)

6. तैरना सीखता बचपन (मोतिहारी, बिहार)

7. पानी गले तक आ गया, पर कुछ नहीं हुआ. (सप्तरी)

8. जद्दोजहद (बीरगंज, नेपाल)

9. काज़ीरंगा प्राणी उद्यान में 225 से ज़्यादा जानवर मर चुके हैं.

10. अपनी बची-कुची पूंजी बचाने की कोशिश (असम)

11. गंदे पानी से गुज़रते स्कूल के बच्चे

12. असहाय (असम)

13. जुगाड़ की नांव पर बकरियों को ले जाते लोग (असम)

14. तिनके का सहारा (असम)

15. रेल ट्रैक

16. एक अनार सौ बीमार (ढाका)

17. रनवे (काठमांडू)

18. कैद (नेपाल)

19. अरमानों का खंडहर (गुजरात)

20. वीरान बगिया (नेपाल)

21. राहत सामग्री के लिये फैलते हाथ (असम)

22. आसरा (सप्तरी, नेपाल)

23. केले के पेड़ से बनी नांव (असम)

24. सड़क या नाला (मुंबई)

25. कोशिश (असम)

26. साबरमती नदी

27. डिहाइड्रेशन से रोता बच्चा (बिहार)

28. भूख (काठमांडू)

29. बाढ़ के प्रकोप से बचने के लिए आस्था का सहारा (गुवाहाटी, असम)

30. राहत (बिहार)

31. पेट की खातिर (बिहार)

32. बच्चों के हाथो में पतवार (असम)

दक्षिण एशिया में आई इस विपदा के बारे में बात करने के लिए मेनस्ट्रीम मीडिया के पास वक़्त नहीं है.

Source: Boredpanda