हवाई सफ़र के दौरान बहुत सारी चीज़ें प्रतिबंधित होती हैं, उनमें से एक धूम्रपान भी है. लेकिन अगर हवाई जहाज़ में सिगरेट पीना मना है, तो फिर वहां एेशट्रे क्यों मौजूद होती है. एेशट्रे के इस राज़ को जानने की इच्छा तो आपको भी हुई होगी, लेकिन बस कभी पूरा सच जानने की कोशिश नहीं की होगी. चलिए हम ही बता देते हैं कि आख़िर क्यों एयरलाइंस एेशट्रे का लॉलीपॉप तो देती हैं, लेकिन सिगरेट नहीं पीने देती.

प्लेन में सिगरेट पीने पर प्रतिबंध सिर्फ़ आप पर ही नहीं होता, बल्कि पायलट पर भी होता है. प्लेन में हर जगह धूम्रपान निषेध के पोस्टर लगे रहते हैं, लेकिन वहीं ऐशट्रे मौजूद रहती हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि अगर कोई ऐशट्रे ख़राब हो गई है या फिर टूट गई है, तो उसे 72 घंटों के भीतर ही बदल दिया जाता है. मतलब ये तो हद ही है, सिगरेट पीने नहीं दी जाती और ऐशट्रे को कुछ ही घंटों में बदल दिया जाता है.

ऐशट्रे से इतना प्यार क्यों?

दरअसल, Code of Federal Regulations (14) के तहत, आप एयरलाइंस में किसी भी जगह धूम्रपान कर सकते हैं. फिर चाहें वो आपकी सीट हो, या प्लेन का वॉशरूम. According To The Law, हवाई जहाज़ के अंदर धूम्रपान करने पर किसी तरह की रोक नहीं है. यही कारण है कि प्लेन में ऐशट्रे तो मौजूद रहती है, लेकिन स्मोकिंग पर मनाही है.

Source : indiatimes