एक बच्चे को जन्म देना दुनिया का सबसे कठिन काम है. बच्चे को जन्म देने के लिए प्रकृति द्वारा एक औरत का चुनाव इसलिए किया गया है, क्योंकि एक औरत में सहनशीलता और त्याग की भावना सबसे ज्यादा होती है. भले ही बच्चे को जन्म देने के दौरान 22 हड्डियों के एक साथ टूटने के बराबर दर्द ही क्यों न हो, लेकिन उस दर्द के साथ जो सुखद पीड़ा होती है, वो केवल एक औरत ही समझ सकती है. लेकिन यह कहना भी गलत नहीं होगा कि एक स्त्री के जीवन का सबसे कठिन वक़्त बच्चे के जन्म का समय होता है.

बच्चे के जन्म से पहले और बाद में औरत को आराम, देखभाल और इमोशनल और फिज़िकल सपोर्ट की सबसे ज्यादा ज़रूरत होती है. ठीक इसी प्रकार नवजात शिशु को भी खास देखभाल, दूध, और पोषक तत्वों की ज़रूरत होती है. इसके साथ-साथ विशेष साफ़-सफ़ाई का भी ध्यान रखना ज़रूरी होता है. चाहे फिर वो घर में रहने वाली महिला हो या कामकाजी महिला, दोनों को बच्चे के जन्म के बाद उसकी देखभाल करने के लिए पर्याप्त समय चाहिए होता है. एक कामकाजी महिला को बच्चे के जन्म के बाद उसकी अच्छे से केयर करने के लिए कुछ महीनों की छुट्टी मिलती है, जिसे Maternity Leaves (मातृत्व अवकाश) कहा जाता है.

दुनिया के कई देशों में कामकाजी औरतों को उनके ऑफिस से Maternity Leaves मिलती है. इसीलिए आज हम आपके लिए दुनिया के 11 देशों में औरतों को मिलने वाली Maternity Leaves और उस दौरान मिलने वाले पेमेंट की जानकारी लेकर आये हैं. किसी देश में सालभर की तो, कहीं मिलती हैं कुछ महीनों की Maternity Leaves. और किसी देश में Maternity Leaves में मिलती है पूरी सैलरी तो कहीं आधी.

तो आइये जानते हैं कि Maternity Leaves के दौरान किस देश में है कैसा नियम?

1. Denmark

2. Czech Republic

3. Cuba

4. Canada

5. Uzbekistan

6. Russia

7. Norway

8. India

9. Germany

10. Estonia

11. USA

Designed By : Shruti Mathur

Source: rajnikantvscidjokes