ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारतीय अंडर-19 टीम ने चौथी बार वर्ल्ड चैंपियन बन इतिहास रच डाला. फ़ाइनल मुकाबले में भारत कंगारुओं को 8 विकेट से हराकर विश्वकप जीतने में कामयाब रहा. आज इस युवा भारतीय टीम की जीत का शोर विश्वभर में सुनाई दे रहा है. कप्तान पृथ्वी शॉ के चेहरे पर टीम इंडिया की इस धमाकेदार जीत की ख़ुशी साफ़ देखी जा सकती है.

शॉ ने विश्व कप जीतने के बाद जीत का श्रेय सपोर्ट स्टाफ़ और कोच राहुल द्रविड़ को दिया. इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया, 'हम सबके मन में एक विश्वास था कि हम सब बेस्ट हैं.' हम बीते दो साल से इसकी तैयारी में जुटे हुए थे. कैंप के दौरान खेल के साथ-साथ हमें एक-दूसरे को जानने का भी मौका मिला.'

भारतीय टीम के महान खिलाड़ी और टीम के कोच राहुल द्रविड़ की तारीफ़ करते हुए शॉ आगे कहते हैं कि 'वो लीजेंड हैं, लेकिन उन्होंने हमारे लिए ऐसा माहौल तैयार किया कि आप उनसे दोस्त की तरह बात कर सकते हैं. वो हमेशा एक साधारण इंसान की तरह रहते हैं. जीत के बाद उन्होंने हमें ज़मीन से जुड़े रहने की सलाह भी दी.'

शॉ कहते हैं कि द्रविड़ ने मुझे बताया कि 'क्रिकेट पिच पर ओपनर का योगदान अहम होता है, क्योंकि सही बल्लेबाज़ी के ज़रिए एक बड़ा लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी. इसीलिए तुम्हारा विकेट हर फ़ॉर्मेट के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण है.'

वहीं शॉ ने कप्तानी पर बात करते हुए बताया, टीम का कप्तान बनकर मुझे काफ़ी अच्छा लगा. हांलाकि, इस दौरान आपको कई दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है. साथ ही वो कहते हैं कि जीत की ख़ुशी में हम पूरी रात नहीं सोए. यहां तक कि मैं इतना व्यस्त था कि फ़ोन को हाथ तक लगाने का समय नहीं मिला. वहीं सुबह जब फ़ोन देखा, तो बधाई के ढेर सारे मैसेज आए हुए थे. मैंने अपने पिता से भी संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उनका फ़ोन स्विच ऑफ़ था.

एक बार फिर से U-19 वर्ल्ड चैंपियन टीम को जीत की बधाई और हां We Love You राहुल द्रविड. आप भारतीय टीम के एक बेहतरीन प्लेयर रहे हैं. आज एक अच्छे कोच हैं और हां इंसान तो आप हमेशा से ही ग़ज़ब हैं.

Source : Scroll