ट्रोल के नाम पर सोशल मीडिया में किसी व्यक्ति विशेष को निशाना बनाने एक नया चलन बन चुका है. बड़े-बड़े स्टार और सेलेब्स अकसर अपने किसी बयान या किसी विचार को लेकर इस ट्रोल पुलिस का शिकार होते रहते हैं. इसी में क्रम में नया नाम 'पद्मावत' फ़िल्म के निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली का है, जो इस फ़िल्म को ले कर पहले ही करणी सेना के निशाने पर थे. हालांकि ये विवाद एक बार उस समय ख़त्म होता हुआ नज़र आ रहा था, जब राजपूत संगठनों ने फ़िल्म को देखने के बाद इसमें सब ठीक बताया था. इसके बावजूद राजपूत और हिंदूवादी संगठनों द्वारा लखनऊ से ले कर अहमदाबाद, गुरुग्राम और नोएडा में आगजनी और तोड़-फोड़ की घटनाओं को अंजाम दिया रहा है.

वहीं दूसरी तरफ़ संजय लीला भंसाली को घेरने के साथ ही ट्रोल पुलिस ने बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप को निशाना बनाया है. सोशल मीडिया की आड़ में छिप कर संजय लीला भंसाली और अनुराग कश्यप को निशाना बनाने वाले लोगों ने सभी तरह की हदों को पार कर दिया. इस बार उन्होंने दोनों निर्देशकों का पर्सनल मोबाइल नंबर विभिन्न मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स पर डाल दिया. इसके साथ ही वो लोगों से अप्रत्यक्ष रूप में अपील करते हुए दिखाई दिए कि वो फ़ोन करके उन्हें गलियां दें.

नंबर को डालते हुए ये यूज़र लिख रहे हैं कि

'अनुराग कश्यप का नंबर 9********** और संजय लीला भंसाली का नंबर 9********* कोई भी इनसे गाली-गलौच न करे. ये सब सही नहीं है. हमारा देश महान है बाकि आप भी समझदार हैं.'

इस समझदारी का इशारा किस तरफ़ है उसे आप भी समझ ही गए होंगे.

हालांकि जिस नंबर को अनुराग कश्यप का बताया गया है वो असल में उनके करीबी कीर्ति सिंह का नंबर है. सोशल मीडिया में उनका नंबर डाले जाने की वजह से कीर्ति को खासी परेशानी भी उठानी पड़ रही है.

'पद्मावत' को लेकर दिनों-दिन करणी सेना का विरोध हिंसक होता जा रहा है. बुधवार शाम भी कुछ कथित राजपूत संगठनों ने एक स्कूल बस को निशाना बनाया, जिसे ले कर फ़िल्म का विरोध करने वाले लोगों की भी काफ़ी निंदा हो रही है.

Source: jantakareporter