Indian Armed Forces Full Form: भारतीय सेना (Indian Army) हर मुश्किल घड़ी में बड़ी निडरता के साथ देश की रक्षा के लिए डटी रहती है. किसी दुश्मन देश को मुहतोड़ जवाब देना हो या फिर किसी प्राकृतिक आपदा से देश को बचाना. भारतीय सेना के जवान जान हथेली पर रखकर पहली पंक्ति में खड़े रहते हैं. देश की ख़ातिर इन शूरवीरों को मुश्किल से मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ता है. भारतीय सेना पिछले 7 दशकों में देश की सीमाओं को महफूज़ रखने के लिए दुश्मनों से कई युद्ध लड़ चुकी है. इनमें से अधिकतर में उसे कामयाबी मिली है. लेकिन आज हम 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के एक ऐसे शूरवीर के बारे में बात करेंगे जिसने पाकिस्तान के पराजय की पटकथा रची थी.

ये भी पढ़ें: JFR Jacob: इंडियन आर्मी का वो शूरवीर जिसने 1971 के युद्ध में पाकिस्तान के पराजय की पटकथा लिखी

Indian Army
Source: theprint

आज हम आपको भारतीय सेना की कुछ प्रमुख फ़ोर्सेज़ की फ़ुल फ़ॉर्म (Indian Armed Forces Full Form)के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में काम ही लोग जानते हैं.

1- BSF 

बीएसएफ़ (BSF) की स्थापना 1965 में हुई थी. भारतीय सेना की इस फ़ोर्स का मुख्य कार्य घुसपैठ के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर नज़र रखना है. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force) है.

Border Security Force
Source: wikimedia

2- CISF

सीआईएसएफ़ (CISF) की स्थपना सन 1969 में CISF में हुई थी. भारतीय सेना की इस फ़ोर्स का मुख्य कार्य केंद्र सरकार के औद्योगिक परिसरों की सुरक्षा करना है. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force) है.

Central Industrial Security Force
Source: wikimedia

ये भी पढ़ें: PVR से लेकर Paytm तक, जानिये इन 14 भारतीय कंपनियों के नामों की फ़ुल फ़ॉर्म

3- CRPF 

सीआरपीएफ (CRPF) की स्थापना सन 1939 में हुई थी. इसका मुख्य कार्य राज्य पुलिस या केंद्र शासित प्रदेश की पुलिस को कानून और व्यवस्था बनाए रखने में सहायता करना है. 30 मार्च 1986 को कमीशन की गई महिला बटालियन (सीआरपीएफ की 88वीं बटालियन) पूरी तरह से महिलाओं से युक्त दुनिया का पहला अर्धसैनिक बल है. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force) है.

Central Reserve Police Force
Source: youtube

Indian Armed Forces Full Form

4- ITBP 

ITBP (आईटीबीपी) की स्थापना सन 1962 में चीनी हमले के बाद हुई थी. भारतीय सेना की इस फ़ोर्स का मुख्य कार्य उत्तर भारत की सीमाओं की सुरक्षा व निगरानी करना है. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (Indo-Tibetan Border Police) है.  

Indo-Tibetan Border Police
Source: economictimes

5- NSG 

एनएसजी (NSG) की स्थापना सन 1984 में देश में उग्रवाद से निपटने के लिए की गई थी. ये भारतीय सेना की एक उच्च प्रशिक्षित बल है जो आतंकवादियों से प्रभावी ढंग से निपटता है. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) है.

National Security Guard
Source: wikipedia

Indian Armed Forces Full Form

6- SSB 

एसएसबी (SSB) की स्थापना 1963 में हुई थी. भारतीय सेना की इस फ़ोर्स का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रविरोधी गतिविधियों को नियंत्रित करना और सीमावर्ती आबादी के बीच राष्ट्रवाद की भावना पैदा करना है. ये भारत-नेपाल और भारत-भूटान सीमाओं की रक्षा करती है. इसे पहले विशेष सेवा ब्यूरो (Special Service Bureau) कहा जाता था. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म सशस्त्र सीमा बल (Sashastra Seema Bal) है.

Sashastra Seema Bal
Source: yoyosarkari

ये भी पढ़ें: मोहम्मद उस्मान: भारतीय सेना का वो अधिकारी, जिन्होंने ठुकरा दिया था मोहम्मद अली जिन्ना का ऑफ़र

7- SFF 

एसएफ़एफ़ (SFF) की स्थापना 14 नवंबर 1962 को हुई थी. ये भारतीय सेना की एक 'स्पेशल ऑपरेशन यूनिट' है. इसमें पहले मुख्य रूप से भारत में रहने वाले तिब्बती शरणार्थी शामिल थे. लेकिन अब इसके आकार और संचालन का दायरा बढ़ गया है. इसका हेडक़्वार्टर उत्तराखंड के चकराता में है. इसकी फ़ुल फ़ॉर्म स्पेशल फ्रंटियर फोर्स (Special Frontier Force) है.

Special Frontier Force
Source: facebook

 जय हिन्द!