सड़क के नियमों को तो हम सब जानते हैं कि लाल बत्ती पर रुकना है और हरी पर चलना. लेकिन कभी आपने सोचा है कि आखिर क्यों इनमें लाल और हरे रंग की लाइट्स का इस्तेमाल किया जाता है? लाल और हरी लाइट्स का इस्तेमाल एक ख़ास कारण की वजह से होता है. ये कारण वैज्ञानिक है.

Source: myticketsnyc

लाल और हरा रंग हम दिन की रौशनी में भी आराम से देख सकते हैं और किसी भी गहरे रंग को देखने में ये सबसे बड़ी समस्या होती है. लाल रंग की Wavelength किसी भी गहरे रंग से ज़्यादा होती है. 740-620 NM Wavelength वाली इस लाइट को काफ़ी दूर से ही देखा जा सकता है.

कुछ ऐसी ही Wavelength हरे रंग की होती है. हरे रंग की Wavelength 620-585 NM होती है और लाल रंग की तरह ही इस लाइट को भी दिन की रौशनी में दूर से देखा जा सकता है.

Source: wpengine

इन दोनों रंगों के कारण ही सड़क पर होने वाले कई हादसों को टाला जाता रहा है. वैज्ञानिकों ने एक शोध के बाद ही इस बात का फ़ैसला लिया था. पूरी दुनिया की सड़कों पर इन्हीं दोनों लाइट्स का इस्तेमाल किया जाता है. इतना ही नहीं, रेलवे में भी इन्हीं लाइट्स का इस्तेमाल होता है.

Feature Image Source: trafficsafetyguy