एक अमेरिकी महिला जिसका नाम Brook Eddy है और वो एक प्रबल चाय प्रेमी हैं. Brook Eddy ने 2007 में 'भक्ति चाय' (Bhakti Chai) नाम की एक कंपनी खोली थी. ये कपंनी खोलने का निर्णय उन्होंने तब लिया था, जब वो इंडिया से वापस अपने देश अमेरिका गई और भारत जैसी चाय बनाने में विफ़ल रहीं. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि 2018 में, उनकी कंपनी का अनुमानित राजस्व सात मिलियन डॉलर है.

Source: Indiatimes

अमेरिका की एक वीकली मैगज़ीन के मुताबिक़, Brook Eddy का चाय के प्रति लगाव और प्यार 2002 में उनकी भारत यात्रा के दौरान बढ़ा था. लेकिन जब 2006 में वो वापस अमेरिका के शहर कोलोराडो पहुंची, तो उनको वहां की चाय में वो स्वाद नहीं मिला जो भारत की चाय में था. उस दौरान वो भारतीय चाय के स्वाद के लिए तरस रहीं थीं, लेकिन कोलोराडो के लोकल कैफ़ेज़ में उनको इंडियन टी के स्वाद के आस-पास का स्वाद भी नहीं मिला. इसलिए 2006 में ही Eddy ने एक कंपनी खोलने का फ़ैसला किया, जो भक्ति के आदर्शों पर आधारित थी.

Source: crowdfundinsider

अपनी इस कंपनी के लिए वो अकसर भारत आया-जाय करती थीं. धीरे-धीरे उन्होंने अपनी कार के पीछे एक ठेला जैसा जोड़कर मेसन की बर्नियां (Mason Jars) को बेचना शुरू किया. और कुछ ही समय में उनके प्रशंसकों की संख्या बढ़ती गई और वो पॉपुलर हो गई. और केवल एक साल के अंदर ही भक्ति चाय ने अपनी पहली वेबसाइट लॉन्च कर दी. और देखते ही देखते कार पर घूमने वाली ये कंपनी बड़े स्तर के बिज़नेस में तब्दील हो गई.

NDTV के रिपोर्ट के अनुसार,

अपने बारे में बात करते हुए Ms Eddy कहती हैं, 'मेरा जन्म एक हिप्पी परिवार में हुआ, मेरे पेरेंट्स हिप्पी हैं, लेकिन मैं गोरी पैदा हुई हूं और इसके अलावा मैं मिशिगन में पली-बढ़ी हूं. देखा जाए तो मुझे भारत के बारे में और भारत के लिए मेरे अंदर इतना लगाव नहीं होना चाहिए, पर मैं भारत के कल्चर और वहां के लोगों से प्यार करती हूं. मुझे अराजकता और जीवंतता से प्यार है. मैं जितनी भी बार यहां आयी हूं, हर बार कुछ न कुछ नया सीखकर ही गई हूं. और ये एकदम सच बात है.'

Ms Eddy दो जुड़वा बच्चों की सिंगल मदर हैं, और उन्होंने अपने चाय के बिज़नेस के लिए अपनी फ़ुलटाइम जॉब भी छोड़ दी. ताकि वो चाय बनाने की सही प्रक्रिया को सीख कर भारतीय चाय के इस अनूठे स्वाद के साथ उपभोक्ताओं को जोड़ पाएं. और सही मायनों में देखा जाए तो उनके ये चाय का बिज़नेस सामाजिक स्तर पर और पर्यावरणीय परिवर्तन में एक बदलाव लाने का काम भी कर रहा है.

Source: denverpost

इसके अलावा उन्होंने 'GITA - Give, Inspire, Take Action' नाम की एक संस्था को भी लॉन्च किया है, जिसका उद्देश्य बेघर और बेसहारा और अलग-अलग कारणों से निराश्रित लोगों की मदद करना है. ऐसे लोगों की मदद के लिए ये संस्था अभी तक 5 लाख डॉलर यानि कि 3 करोड़ से ज़्यादा रुपयों का दान दे चुकी है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Brook Eddy की Bhakti Chai कंपनी ने अपनी स्थापना के बाद से 35 मिलियन डॉलर यानि लगभग 22,81,04,10,000 रुपये का कुल राजस्व दर्ज किया है.

तो दोस्तों आने देखा कैसे एक महिला ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन के बलबूते चाय के बिज़नेस को कहां से कहां पहुंचा दिया.

Source: NDTV