हाल ही में स्पेन में 17वीं सदी की एक मशहूर पेंटिंग को ठीक करने के प्रयास में एक शख़्स ने उसकी शक्ल और सूरत इस क़दर बदल दी कि उसे पहचान पाना मुश्किल हो गया.

दरअसल, 'द इमैक्युलेट कॉन्सेप्ट ऑफ़ लॉस वेनेरेबल्स' स्पेनिश बारोक़ आर्टिस्ट एस्टेबन मुरिलो की पेंटिंग है. मुरिलो की एक पुरानी पेंटिंग को एक शख़्स ने नई बनाने की कोशिश की, लेकिन नई बनाने के चक्कर में ये पेंटिंग इस क़दर ख़राब हो गई कि सोशल मीडिया पर लोग इसके मज़े लेने लगे.

स्पेन की यूरोपा प्रेस के मुताबिक़, हाल ही में वालेंसिया के आर्ट कलेक्टर ने इस प्रसिद्ध पेंटिंग की एक प्रति को साफ़ करने के लिए एक फ़र्नीचर बनाने वाले की मदद ली. इस दौरान कलेक्टर को उस वक़्त झटका लगा, जब उन्होंने देखा कि फ़र्नीचर बनाने वाले ने इस मशहूर पेंटिंग को ठीक करने के बजाए उसकी शक्ल-ओ-सूरत ही बदल डाली.

इस दौरान फ़र्नीचर कारीगर ने 17वीं शताब्दी की इस मशहूर पेंटिंग की प्रतिलिपि को पुनर्जीवित करने के दो प्रयास किए उसके बाद जो नतीजे निकाले वो कुछ इस प्रकार से थे. इस दौरान आर्ट कलेक्टर ने इसके लिए 1350 डॉलर खर्च किए, लेकिन नतीजा नहीं निकला.

अब सोशल मीडिया पर लोग इसे Expectation vs Reality बोलकर मज़े ले रहे हैं. बुरी ही सही लेकिन ये दोनों ही तस्वीरें सोशल मीडिया पर लोगों का ख़ूब मनोरंजन कर रही है.