सोशल मीडिया की वजह से 1 दिन पहले दिल्ली के मालवीय नगर में 'बाबा का ढावा' चलाने वाले एक बुज़ुर्ग दंपत्ति को ज़िंदगीभर की खुशियां मिल गईं. 

Source: indianexpress

बता दें कि कॉरोना काल में ढावा चल नहीं पा रहा था. इसलिए किसी युट्यूबर ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. इसके बाद बॉलीवुड से लेकर स्पोर्ट्स की हस्तियों ने आगे आकर इस बुज़ुर्ग दंपत्ति की मदद करके दिखाया कि सोशल मीडिया का सादुपयोग किया जाये तो क्या से क्या हो सकता है. 

इसके उलट सोशल मीडिया पर फ़ेमस होने के चक्कर में एक ब्रिटिश प्रोफ़ेसर मिनट में हीरो से ज़ीरो बन गए.

Source: twitter

दरअसल, फ़ूड डिलीवरी पोर्टल Zomato ने ट्विटर पर एक सवाल किया था कि, ऐसी कौन सी डिश है जिसे आज तक आप समझ नहीं पाए कि लोग इसे इतना पसंद क्यों करते हैं?

जवाब में ब्रिटिश प्रोफ़ेसर Edward Anderson ने लिखा, 'इडली' दुनिया की सबसे बोरिंग डिश है'.

बस फिर क्या था सोशल मीडिया की सेना प्रोफ़ेसर साहब के पीछे हाथ धोकर पड़ गयी और बेचारे प्रोफ़ेसर साहब को मिनट में हीरो से ज़ीरो बना दिया. दिन हो या रात साउथ इंडियान ने प्रोफ़ेसर साहब को इतने ट्वीट किए कि वो परेशान हो उठे. 

इसके बाद प्रोफ़ेसर साहब ने माफ़ी वाले अंदाज़ में एक और ट्वीट करते हुए लिखा, इससे पहले कि पूरा दक्षिण भारत मुझ पर हमला करे, मैं सिर्फ़ इतना कहना चाहता हूं कि मुझे डोसा,अप्पम के आलावा सभी दक्षिण भारतीय भोजन पसंद हैं, लेकिन इडली सबसे कम पसंद है. 

इसके बाद जब कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट कर प्रोफ़ेसर साहब को ज्ञान दिया, तो उन्होंने जल्दी से एक प्लेट इडली सांबर ऑर्डर कर डाला.

बताया जा रहा है कि हिस्ट्री पढ़ाने वाले ये प्रोफ़ेसर साहब इंडिया-ब्रिटेन स्टडी के एक्सपर्ट भी हैं, लेकिन लगता है दक्षिण भारत के सबसे पसंदीदा फ़ूड के बारे में इनकी हिस्ट्री बेहद कमज़ोर है.