आज के वक़्त में सबसे मुश्किल काम है रहने के लिये ढंग का घर ढूंढना. अब बंदा कितने ही हाथ-पैर क्यों न मार ले, न चाह कर भी कभी न कभी वो ब्रोकर की मदद ले ही लेता है. आख़िर उसके बिना हमारा ये काम मुश्किल ही नहीं, बहुत ज़्यादा ही मुश्किल लगता है. ख़ैर, मार्केट में एक-दो नहीं, बल्कि बहुत से ब्रोकर मौजूद हैं, लेकिन इन सब में एक चीज़ कॉमन होती है, उनकी बातचीत. शहर के किसी भी कोने में चले जाओ, सारे ब्रोकर एक ही तरह की बात करते नज़र आयेंगे.

हांलाकि, मुद्दा ये भी है कि वो कहते कुछ हैं और उनके कहने का मतलब कुछ और होता है. ब्रोकर की इन्हीं चंद बातों को आपके सामने पेश कर रहे हैं:

1.

2.

3.

4.

5.

6.

7.

8.

9.

10.

11.

12.

अगर आपके ब्रोकर ने भी आपसे कुछ इसी तरह का संवाद किया है, तो कमेंट में बताना मत भूलना.

Design By : Kumar Sonu