ऑफ़िस के लिये निकलने से पहले मन में एक ही ख़्याल आता है, आखिर क्यों हर रोज़ ऑफ़िस क्यों जाना पड़ता है? ये हाल सिर्फ़ किसी एक इंसान का नहीं है, बल्कि ऑफ़िस जाने वाले हर बंदे का यही कहना है. ऑफ़िस के अंदर कदम रखते ही मन में हज़ार सवाल पैदा हो जाते हैं. अब कई लोग सोच रहे होंगे कि कैसे सवाल?

इसका जवाब आपको इन चंद Creatives में मिल जायेगा, जिसके ज़रिये हमने ऑफ़िस जाने वालों का दर्द बयां किया है.

गुस्ताख़ी माफ़ पर ज़रा नीचे नज़र तो फे़रिये:

अगर किसी को कोई बात दिल पर लगी हो, तो दोबारा से गुस्ताख़ी माफ़. हमारी छोटी सी कोशिश कैसी लगी? कमेंट में बताना देना.

Humor के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.

Design By: Aprajita