अगली लाइन्स गैंग्स ऑफ़ वासेपुर वाले चचा की आवाज़ में पढ़ना

"इंटरनेट पे दो तरह का कंटेंट होता है, एक वायरल और दूसरा फ़ालतू, ये सारा खेल इन दोनों का ही है. कब कोई वायरल कंटेंट फ़ालतू बुला दिया जाए और अब कोई फालतू कंटेंट वायरल हो जाए ये री-ट्वीट और शेयर करने वाले भी नहीं जानते."

तो बात ये है कि इंटरनेट पर हो गया है केक मीम्स का कब्ज़ा. यहां सब कुछ केक है. मगर इसकी शुरुआत कहां से हुई?

सारा खेल शुरू हुआ जब एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें एकदम असली सा दिखने वाला Croc वाला चप्पल काटने पर केक निकला. Time Magazine की माने तो ये अद्भुत केक को बनाया था टर्की के एक food artist तुबा गेकिल ने और वेबसाइट Tasty ने इसे पहुंचा दिया सोशल मीडिया पर.

बस ये देखने के बाद सोशल मीडिया के धुरंधरों को हर जगह केक ही केक दिखाई देने लगा. लोगों ने सबको केक बना डाला चाहे वो जूता हो या टॉयलेट पेपर, कांच का ग्लास हो या खाली पड़े कैन, बैगन हो या हाथ.

इसके बाद शुरू हुआ जोक्स और मीम्स का दौर और फिर इसमें नागपुर पुलिस, नेटफ्लिक्स और माइक्रोसॉफ़्ट भी कूद पड़े.

आप भी केक.. अरे नहीं नहीं मीम्स का आनंद लीजिये:

सब मोह माया है हुआ पुराना अब तो भइया सब केक ही केक है.