पूरे भारत में टहल आइए आपको दो प्राणी हर जगह मिल जाएंगे. रंगबाज़ और कलाकार. यहां दुनिया की एकलौती ऐसी प्रजाति मिलती है, जिसके लिए फ़र्जी ही तफ़री काटना आदत कम हुनर ज़्यादा है. जी हां, सदियों की चिरकुटई से हमने ख़ुद को इस क़ाबिल बनाया है. हमें आइस्क्रीम में गर्म रसगुल्ला डालकर चापने और कोल्ड्रिंक में हाजमोला डालकर खींचने में बहुत आनंद आता है. कहने का तात्पर्य है कि हमारी रंगबाजी और कलाकारी हमें हर जगह टांग घुसाने के लिए उकसाती रहती है.

अब अपने आसपास नुक्कड़ों पर पसरी दुक़ानों के नामों को ही देख लीजिए. इन दुकानों के नाम ससुरे नाम कम बवाल ज़्यादा है. मतलब ऐसे-ऐसे नाम जिन्होंने न सिर्फ़ क्रिएटिविटी की टांगे मरोड़ दीं बल्कि उसके मुंह पर दो कोहनियां भी रसीद कर दीं.

तो हज़रात, हज़रात, हज़रात! आपन-आपन दिल थाम के बैठिएगा क्योंकि बंदा ऐसी 15 दुकानों के नाम पेश कर रिया है, जिन्हें देखकर आप हंस-हंस कर ज़मीन पर पसर जाएंगे.

1-यहां मोमोज़ शेयर भी होते हैं क्या?

2- इंजीनियरिंग कर लो बड़ा स्कोप है!

3-ये चलता कैसे है बे?

4-न..न..न.. ये है Murg Donalds

5-डॉक्टर साहेब! तनिक देखिए तो, जूता बड़ा पिरा रहा है

6-शांति से खड़े रहें...ऑर्डर रिसीव होने पर ब्लू टिक दिखेगा!

7-शर्माना काए को, बिंदास बोलने का

8-बहुत गर्मी है, ज़रा “cool 'n' crisp chikan” देना

9-बस भावनाओं को समझो

10-ये दुक़ानदार भयंकर बौराया बैठा है

11-इस पर सब सहमत हैं!

12-जल्दी कीजिए, ऐसे मौके रोज़-रोज़ नहीं आते

13-इसकी मुर्गी पड़ोस के मुर्गे के साथ भाग गई थी!

14- वाह पाजी! Sardar Fish 'N Chicken.

15-एक ठग दुक़ानदार के बेकरार छोले.