अमेरिका एक विकसित देश है, विकसित देश की बातें भी विकसित होती हैं. Kevin Howard नाम के एक शख़्स की 12 साल पुरानी शादी टूट गई. इससे निराश Kevin ने अपनी पत्नि के प्रेमी के ऊपर केस कर दिया और और जुर्माने में रूप में 7,50,000 डॉलर का जुर्माना वसूल लिया.

Source: bellebeirut

प्रेमी को पति-पत्नि के रिश्ते को तोड़ने के लिए लगभग 5 करोड़ रुपये देने पड़े. ऐसा आप भारत में सोच भी नहीं सकते, यहां 5 करोड़ में इश्क वर्थ इट नहीं होगा! जहां प्रेम कहानियां 'पापा नहीं मानेंगे' के आगे नहीं बढ़ पातीं वहां प्यार के लिए कोई इतनी बड़ी धनराशी चुकाएगा आप इसकी उम्मीद भी नहीं कर सकते. हां! मामला अगर दहेज का हो और लड़का IPS हो, तब 5 करोड़ बाएं जेब का खेल है.

भारतीय रिलेशनशिप की अलग ही मज़बूरियां हैं. रिश्ते की मज़बूती के लिए प्रेमी के अंडरस्टैंडिग के साथ-साथ कॉलोनी के चौकीदार से लेकर पड़ोस की आंटी तक बराबर ज़िम्मेदार होते हैं. अगर आपने इनकी नज़रों से अपने प्रेम को छिपा लिया फिर तो आप ऊपर वाले के नज़रों में भी नहीं आएंगे. इनके बाद अगला मोर्चा वो रिश्तेदार संभाले रहते हैं जो दूर के भी नहीं होते और पास होने का ढोंग करते हैं, ये लोग बार-बार 'लाइफ़ में कोई है? मुझसे क्या छुपाना, मैं तो दोस्त जैसा हूं' बोल कर आपने भीतर की बात उगलवा लेते हैं और छूटते ही मम्मी-पापा को बता देते हैं और उनके कहानी का सार हाते है 'औलाद आपके कहे में नहीं है, नाक कटने वाली है'... फिर प्रेम कहानी पहुंच जाती है 'पापा नहीं मान रहें' वाले मोड़ पर.

भारत में जोड़ियां आसमान में बनती हैं, हम लोग नीचे तो बस रंग, हाइट, धर्म, जात, गोत्र, सरकारी नौकरी, आय, पुश्तैनी ज़मीन, डिग्री, रोटी का आकार, घूंघट की लंबाई आदि मिला कर बिना लाग-लपेट के उन्हें जोड़ देते हैं.

ऐसा नहीं कि रिश्तों में सिर्फ़ बाहरी तत्व ही समस्याएं खड़ी करते हैं. प्रेमियों की अपनी अंडरस्टैंडिंग भी माशाल्लाह! होती है. आपस में एक दूसरे के लिए तय कर बैठते हैं कि किसको किसके साथ बात करनी है, किसकी DP कैसी होगी, स्टेटस में क्या लिखना है, कपड़े कौनसे पहनने हैं, कौनसा व्रत रखना है, खाना किस ओर से चबाना है, 12th के बाद कौनसा सब्जेक्ट लेना है, किस बैंक में अकाउंट खुलवान है, किसे वोट देना है.

कुल बातचीत का यही सार निकला कि हमें भी रिलेशनशिप की छोटी-मोटी परेशानियों को पीछे छोड़ कर अमेरिका की तरह बड़ी तस्वीर की ओर देखना चाहिए. किसी रिश्ते में मेंटल हरासमेंट झेलने का एक मुआवज़ा मिलना चाहिए. इस रक़म को चुकाएगा कौन इस पर अच्छी बहस होनी चाहिए!