11 मई को News Nation को दिए अपने इंटरव्यू में प्रधानमंत्री ने कुछ ऐसे ख़ुलासे किए, जिसे जानने के बाद सब ये मानने लगे हैं कि उनमें हो न हो, सुपर पावर के कुछ अंश हैं.

प्रधानमंत्री ने बताया कि उन्होंने एयर स्ट्राइक को दौरान सेना के अधिकारियों को सुझाव दिया कि आसमान में मौजूद बादलों का फ़ायदा उठाते हैं, इससे हमारे जहाज़ पाकिस्तानी रेडार की पकड़ में नहीं आएंगे और वापसी में भी आसानी होगी.(हालांकि सेना में इस्तेमाल होने वाले रेडार बादल से प्रभावित नहीं होते)

Source: Pinterest

नरेंद्र मोदी के पास सेना द्वारा इस्तेमाल होने वाले रेडार का ज्ञान नहीं था, फिर भी उन्होंने दिया और मिशन सफ़ल भी रहा. ऐसे में हमे लगता है कि अगर वो अपनी शक्तियों पर ज़ोर दें तो उनके भीतर से ऐसी कई चीज़ें निकलेंगी, जो भारत में मौजूद आम जन की समस्याओं का हल चुटकियों में कर देंगी.

ट्रैफ़िक के शोर को म्यूट करने की शक्ति.

तत्काल टिकट कटाते समय इंटरनेट स्पीड बढ़ा देने की शक्ति.

दूध हमेशा आपके आंखों के सामने उबलेगा और कभी बर्तन से बाहर नहीं गिरेगा. ऐसा करने की शक्ति.

मेट्रो के किस डब्बे में चढ़ें कि सीट मिलने की संभावना बढ़ जाएगी.

सारे डिलीवरी पर्सन फ़ोन पर बिना पता पूछे, सीधे आपके दरवाज़े की घंटी बजाए.

कैब शेयरिंग में पहला ड्रॉप आपका आए.

सलोन में किस स्टाफ़ से बाल कटाना सही रहेगा (निजी अनुभव- जिसके बाल सबसे अच्छे दिख रहे हैं, उससे न कटवाएं. उसके बाल किसी और ने काटे होंगे.)

किस सेल्फ़ी को अपलोड करने पर सबसे ज़्यादा लाइक मिलेंगे, ये पहले से पता हो.

सबका गोवा जाने का प्लान सफ़ल हो.

PUBG में चिकन डिनर लाने का जुगाड़ हो जाए.

कुछ नरेंद्र मोदी की सुपरपावर और कुछ आपका 'Raw Wisdom' मिल जाए, तो सब काम सरल हो जाए.