देश के हर नागरिक के लिए शिक्षा बेहद ज़रूरी है. जानवरों के लिए ऐसा कोई रूल नहीं है. लेकिन आंध्र प्रदेश के एक सरकारी स्कूल का नज़ारा देखकर आप हैरान रह जायेंगे. इस स्कूल में इंसानों के साथ-साथ एक लंगूर भी पढ़ाई करता है.

जी हां सचमुच का लंगूर...

Source: indiatimes

ये मामला आंध्र प्रदेश के पीपुली मंडल के वेंगलमपल्ली का बताया जा रहा है. पिछले 12 दिनों से जब भी बच्चे क्लास में पढ़ाई कर रहे होते हैं, एक लंगूर क्लास में आकर बैठ जाता है. ये लंगूर बदमाशियां करने के बाजय टकटकी लगाकर गुरुजी की हर बात सुनता है.

Source: youtube

हालांकि, शुरुआत में लंगूर के क्लास में बैठ जाने से बच्चे घबरा जाया करते थे. ऐसे में टीचर जब भी बच्चों को पढ़ाते थे तो क्लासरूम का दरवाजा बंद कर दिया करते थे. बावजूद इसके ये लंगूर दरवाजे या खिड़की के पास बैठकर क्लास में जो कुछ भी पढ़ाया जाता था उसे ध्यान से सुनने लगता था.

इस स्कूल के हेडमास्टर अब्दुल लतीफ़ बताते हैं कि, स्टूडेंट्स इस लंगूर को लक्ष्मी के नाम से बुलाते हैं. वो पहले दिन से ही क्लास में बहुत ही अच्छे से पेश आती है. स्टूडेंट्स जिस तरह से क्लास में स्कूल के नियम-कानून का पालन करते हैं लक्ष्मी भी वैसे ही पालन करती है.

Source: indiatimes

अब्दुल लतीफ़ आगे कहते हैं, लक्ष्मी असेंबली प्रेयर के दौरान भी छात्रों के बीच ही रहती है. जब सभी बच्चे क्लास की ओर जाते हैं लक्ष्मी भी उनके साथ हो लेती है. लक्ष्मी लंच भी बच्चों के साथ ही करती है. जबकि क्लास ख़त्म होने के बाद उन्हीं के साथ खेलने लगती है.

स्कूल के अन्य टीचर्स का कहना है कि जबसे लक्ष्मी क्लास में आने लगी है स्कूल में स्टूडेंट्स के आने की संख्या भी बढ़ने लगी है. स्टूडेंट्स को लक्ष्मी के साथ पढ़ना और खेलना अच्छा लगता है.

लक्ष्मी अन्य लंगूरों की तरह नहीं है. वो बेहद शांत और शालीन स्वभाव की है. बच्चों के साथ घुल मिलकर रहती है और अपनी हरकतों से सबका मनोरंजन भी करती है. लक्ष्मी के इसी व्यवहार के चलते अब स्कूल प्रशासन ने भी उसका ख़याल रखना शुरू कर दिया है. स्कूल की छुट्टी के बाद लक्ष्मी को अच्छे से लॉक करके रखा जाता है, ताकि जंगली जानवर घुसकर उसे नुकसान न पहुंचाए.