हां तो अपनी क़िस्मत को कोसना हम इंसानों के फ़ेवरेट पास टाइम में से एक है. क्यों है न?

हालांकि ज़्यादातर मौकों पर ग़लती हमारी ही होती है पर हमें 'मेरा तो बैड लक ही ख़राब है', 'मेरी क़िस्मत लिखते वक़्त भगवान चाय पीने चले गए थे' बोलने में अलग मज़ा आता है.
इसमें कितना भी मज़ा आए पर कई बार ग़लती हमारी नहीं, सामने वाले की होती है. और हमारे पास पावर ऑफ़ इंटरनेट है. 
स्नैपचैट पर कुछ लोगों ने अपनी बदक़िस्मती की तस्वीरें शेयर की, कुछ छांटकर ले आए हैं-

1. हाय बेचारी!

2. ऐसा क्या धो रहे थे भाई?

3. आप प्रोजेक्ट का टाइटल ढंग से पढ़ना.

4. ऐसा अंडे का फंडा नहीं सीखना भाई

5. पीछे देखो पीछे.

6. अगली बार ध्यान से ताड़ना बहन!

7. एक फ़ोटो में काफ़ी सारा दर्द.

8. उम्मीद से दोगुना.

9. मेरा तो इतना लाइफ़ ख़राब हो गया.

10. कुत्ते की पॉटी की डिज़ाइन!

11. शुक्र है जान बच गई.

12. पूरी ईमानदारी से किया गया काम.

13. कैप्शन नहीं, फ़ोटो देखो.

14. कोई नॉन-वेज जोक नहीं बनाएगा.

15. इ का बवासीर दे दिए हो!

16. मरने के बाद मरना?

17. ये क्या हुआ, कैसे हुआ?

18. चॉकलेट केक नहीं साबुन था.

19. मेरी क़िस्मत में तू नहीं शायद क्यों तेरा इंतज़ार करता हूं.

20. डबल ख़र्चा

21. Ice cream तो गई पर फ़ोटो अच्छी मिल गई. 

22. दादी विल बी दादी

23. लोशन है.

24. कपड़े धोना बच्चों का खेल नहीं. 

25. उम्मीद है बच्ची ठीक होगी.

26. अरे रे रे मैडम.

27. दुनिया का बेस्ट पेंटर. 

28. जो बोलो वो कभी नहीं होता.

29. अंधों में काना राजा.

30. दुश्मन के साथ भी ऐसा न हो!

आप अपनी बदक़िस्मती की फ़ोटो कमेंट में डाल सकते हैं.

Source- Green Lemon