भारतीय संविधान की अनुच्छेद 51A कहता है कि भारत के प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य होगा कि वह वैज्ञानिक दृष्टिकोण, मानववाद और ज्ञानार्जन तथा सुधार की भावना का विकास करे. इसके अलावा हमारा संविधान भारत को एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र बताता है. निजी स्तर पर देश के नागरिक धार्मिक मान्यताओं का अभ्यास कर सकते हैं, वो उनके अभिव्यक्ति की आज़ादी है. ये गाढ़ी ज्ञानभरी बातें इसलिए क्योंकि मुझे समझ नहीं आया जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह फ़्रांस में राफ़ेल की डिलविरी लेने गए थे तब वो राष्ट्र के प्रतिनिधि बन कर गए थे या राफेल का ऑर्डर उन्होंने Flipkart से बिग बिलियन डे सेल में किया था!

Source: Twitter

फ़्रांस ने जो विमान भारत को दिए हैं उसमें मिसाइल भरने के अलग से करोड़ों लिए हैं, लेकिन इससे विमान की शक्ति सुनिश्चित नहीं हुई उसे राजनाथ सिंह ने नारियल फोड़ कर अजय बनाया. 20 रुपये के नारियल में इतनी ताकत होती है, जो करोड़ों के बारूद में नहीं होती. फ़ोटो में आप देखेंगे कि चक्के का आगे नींबू भी रखे हुए हैं, पहले तो लगा जूस निकालने के कोई नई मशीन आई है, बाद में हक़ीक़त मालूम हुई. इन तस्वीरों को देखने के बाद मुझे बहुत तेज़ गुस्सा आया. ये कैसी पूजा है, राफ़ेल में अगरबत्ती कौन खोंसेगा!

Source: Twitter

भारत ने जब से फ़्रांस के साथ राफ़ेल ख़रीदने की डील फ़ाइनल की थी, तभी से कई लोगों की उसपर बुरी नज़र थी. इसको ध्यान में रखते हुए भी कई इंतज़ाम करने चाहिए थे, जैसे- कॉकपिट में नींबू-मिर्च का टांगना, विमान के किसी कोने में घोड़े का नाल लगाना, नज़र-बट्टू भी बढ़िया काम करता है, पायलट हमेशा नज़र सुरक्षा कवच पहने और हमेशा पूरब की दिशा में उड़ान भरे... शुभ रहता है.

Source: Twitter

संदिग्ध सूत्रों से ये भी पता चला है कि भारत की सीमा में प्रवेश करते ही राफ़ेल को किसी हाइवे के लाइन होटल के पास उतारा जाएगा, ताकि बढ़िया से उसका भारतीयकरण किया जा सके. चक्के में पुराने सीडी कैसेट चिपकाए जाएंगे, रियर व्यू मिरर में वैष्णो देवी से लाई गई चुनरी बांधी जाएगी, भारतीय दर्शन को ध्यान में रख कर पीछे 'बुरी नज़र वाले तेरा भी भला हो' लिखा जाएगा.

जब से राफ़ेल पूजन की तस्वीर इंटरनेट आई हैं, खूब बातें हुईं. आपको भी पढ़ना चाहिए कि लोगों ने क्या-क्या कहा

विमान अगर में कुछ ख़राबी निकली तो फ़्रां भी कह देगा, 'आप लोगों ने ही ठीक से पूजा नहीं की थी'.