बस दो दिन के बाद 'वैलेंटाइन सप्ताह' अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच जाएगा. इस बीच प्रेमियों ने टेडी बियर, चॉकलेट, वादों और झप्पियों का आदान-प्रदान किया, यहां तक उन्हें कोई ख़तरा नहीं था. अपरिहार्य कारणों से अंतिम दो दिन जोख़िम भरे हैं. ऐसे में ये हमारी ज़िम्मेदारी बनती है कि हम प्रेमियों का मार्गदर्शन करें.

Source: India Today

आगे हम बताएंगे कि आप अपनी वैलेंटाइन्स डेट किन जगहों पर मनाएं, जहां आपको ख़ास किस्म के बल, दल और सेना का सामना नहीं करना पड़ेगा. साथ ही साथ ये बताना भी ज़रूरी है कि कहां डेट पर जाना प्रेम और स्वास्थ्य के लिए हानिकारक रहेगा

यहां जा सकते हैं

पुस्तकालय

Source: Indian Youth

परेशान करने वाले असमाजिक तत्वों का किताबों से कोई वास्ता नहीं होता इसलिए ये लोग किताबों से एक सुरक्षित दूरी बना कर रखते हैं. इसका फ़ायदा आप उठा सकते हैं और पुस्तकालय में सुकून से बैठ कर बात-चीत कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रहे बातचीत फ़ुसफ़ुसाहट में हो, पुस्तकालय में शोर करना मना होता है भाई!

पुलिस स्टेशन के नज़दीक

अगर राज्य की पुलिस व्यवस्था पर भरोसा है तो थाने के समीप पड़ने वाले किसी भी पब्लिक प्लेस पर मिलने में आपको किसी प्रकार का ख़तरा महसूस नहीं होगा.

योग शिविर

Source: divyayoga

अगर दल, बल और सेना वाले लोग योग शिविर में पहुंचेंगे तो बाबा जी उनसे ही आठ आसन करवा देंगे, ऐसे में आप भी योग शिविर तब ही जाएं जब दस आसन करने की ताकत हो.

चुनावी रैली

रैली में आए सभी लोगों को नेता जी का संरक्षण होता है और जिसके ऊपर नेता जी का हाथ हो उसको कौन हाथ लगा सकता है, ऊपर से नारा लगाने पर नाश्ते का डब्बा भी मिलेगा.

झुंड बना कर डेट पर जाएं

Source: The Daily Mail

ऐसी कठिन परिस्थिति में आपका दर्द वही समझ सकता है जिस पर गुज़रती है, 5-6 कपल्स का ग्रुप अगर इकट्ठे डेट पर जाए तो एक-दूसरे को हौंसला भी मिलेगा और लड़ने की ताक़त भी.

यहां जाने में जोख़िम है

पार्क

Source: The Asian Age

सबसे पहला निशाना पार्कों पर ही लगाया जाता है, तो अगर आपने मिलने के लिए पार्क को चुना है तो बिना देरी किए वैन्यु बदल डालिए.

सिनेमा हॉल

इन दो दिनों में हॉल जाने पर भी ख़तरा है यहां भी जोड़ियां समूह में पाई जाती हैं, अगर फ़िल्म देखने भी जाना है, तो जो फ़िल्म 14 तारीख को लगी हुई है वो 15 को भी लगी रहेगी और एक दिन में कहानी भी नहीं बदलने वाली.

गिफ़्ट शॉप

Source: SMERGERS

पूजा के लिए प्रसाद यहीं से तो ख़रीदा जाता है इसलिए हमारा सुझाव है दुकान जाने से बेहतर है ऑनलाइन शॉपिंग कर लें.

कॉफ़ी शॉप

वक़्त के साथ ये लोग भी थोड़े स्मार्ट हुए हैं, इन्हें कॉफ़ी शॉप का पता चल चुका है इसलिए ये पार्क में छापा मारने के बाद कॉफ़ी शॉप में ही पहुंचते हैं.

अपने कपल्स दोस्तों के बीच इस जानकारी को बांटना न भूलें.