‘मुस्कुराइए, आप लखनऊ में हैं.’ ये स्लोगन यूं ही नहीं बना. काहे कि अगर आप शराफ़त और ख़ुराफ़ात की एक ही जगह तलाश कर रहे हैं, तो फिर लखनऊ से मुफ़ीद जगह और कोई नहीं है. नवाबों के इस शहर की आबो-हवा में नज़ाकत और नफ़ासत के साथ मुंहपेलई भी चरम सीमा तक मौजूद है.

Source: indiarailinfo

जैसा इस शहर का मिजाज़ है, वैसे ही इसके मोहल्लों और जगहों के नाम भी. मने, दर ख़ुराफ़ाती. लखनऊ में ऐसी बहुत सी जगह हैं, जिनका नाम सुन आपको नामकरण करने वाले का नाम जान उसे नमन करने का मन करेगा. अरे मतबल कि, पूरे के पूरे इलाके के लोगों की ज़िंदगी भंड कर देने वाले कांडी लोग रोज़-रोज़ थोड़े ही अवतरित होते हैं. 

तो आइए इस शहर के ऐसे ही जगहों के नाम बताते हैं, जिनका नाम रखते वक़्त भांग का नशा नहीं, बल्कि कांड का चिलम फूंका गया था. 

1.कंघी टोला

लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में ये एक छोटा सा मोहल्ला है. पतली-पतली ग़लियों के किनारे कई घर हैं, जिनमें रहने वालों के सिर पर भले ही बाल कम या न हों, लेकिन वो कंघी टोले के ही निवासी कहलाते हैं. दिलचस्प तो ये है कि इस टोले का कंघियों से कोई लेना-देना नहीं है.

2. पन्नी वाली गली

कंघी टोले की तरह ही इस गली में रहने वालों का भी पन्नियों से कोई संबंध नहीं है. ठाकुरगंज इलाके में ही ये क़रीब 300 मीटर की एक गली है. अब इसका नाम पन्नी वाली गली कैसे पड़ा, यहां रहने वालों के लिए ये सवाल ब्लैक होल से भी ज़्यादा गूढ़ रहस्य मालूम पड़ता है. 

3. चौपटिया

Source: youtube

अंधेर नगरी, चौपट राजा के दरबार से यहां के लोगों का कोई नाता नहीं है, लेकिन फिर भी इस इलाके का नाम चौपटिया है. चौक एरिया में पड़ने वाले चौपटिया में इतनी चहल-पहल रहती है कि यहां 15 मिनट गुज़ारने के बाद आपकी खोपड़िया पिराने लगेगी.

4. झब्बन की बगिया

ठाकुरगंज इलाके में पड़ने वाले इस इलाके का नाम झब्बन की बगिया है, लेकिन यहां आकर कभी ख़ुशबू सूंघने की कोशिश मत कीजिएगा. काहे कि आपकी नाक अंतहीन बदबू से भर जाएगी. बहुत गंदगी रहती है बे. ख़ैर, हमें इत्ता पता है कि अगर झब्बन मियां ज़िंदा होते, तो यहां की हालत देख पहली फ़्लाइट से यमलोक टेकऑफ़ कर लेते.

5. टेढ़ी पुलिया

Source: youtube

ये जानकीपुरम में पड़ती है. पुलिया काहे टेढ़ी है, ये न पता लेकिन यहां इत्ता जाम लगता है कि एक बार भी ग़लती से फंस गए तो गंगा मइया की क़सम कमर ज़रूर टेढ़ी हो जाएगी.

6. गड़बड़ झाला

Source: tripadvisor

ये अमीनाबाद की एक ख़ास मार्केट है. फ़र्ज़ी सूत्रों की मानें तो शादी के बाद ख़िसियाए जोड़ों ने इस मार्केट का नाम गड़बड़ झाला रखा था. काहे कि शादी की ख़रीददारी के लिए लखनऊ के लोग इस मार्केट को बेस्ट मानते हैं. 

7. पीपे वाला पुल

Source: pinterest

ये पुल बिल्कुल अपने नाम की तरह है. काहे कि इस पुल के नीचे पीपे ही लगे हैं, यही लिए इसका ये नाम पड़ गया. गर्मियों में लखनऊ के सारे रंगबाज़ यहीं पर चड्ढी पहनकर फूल खिलाते हैं और नदी में जमकर नहाते हैं.

8. पाटा नाला

Source: satyodaya

ये इलाका चौक एरिया में पड़ता है. ये कहा जाता है कि इस जगह का नाम पाटा नाला इसलिए पड़ा, क्योंकि लोगों ने नाले के ऊपर कई स्लोप बनाकर रास्ता निकाला हुआ है. मतलब नाला ही पाट दिए हैं.

9. छुईया पुरवा

Source: satyaswaroop

चल छुईया-छुईया-छुईया-छुईया, चल छुईया-छुईया-छुईया-छुईया... ये इलाका जानकीपुरम में पड़ता है. अब किसकी छुआछूत के चलते इसे छुईया पुरवा कहा जाता है, हमें नहीं पता. पर ये काफ़ी मुइयाफ़ुल इलाका है, मने काफ़ी भीड़-भाड़ वाला.

10.चरस मंडी

Source: theenglishbulletin

म्हारा लखनऊ भी बॉलीवुड से कम है के... अजी ऐसा कुछ नहीं है. इलाके का नाम ही चरस मंडी है, बाकी यहां नॉन-चरसी भी बड़ी संख्या में पाए जाते हैं. 

तो ये थे, लखनऊ में पड़ने वाले कुछ इलाकों के अतरंगी के नाम. ज़ाहिर तौर पर ये लिस्ट काफ़ी लंबी होगी. हमने इत्ते बता दिए, बाकी आप भी कमेंट बॉक्स में बताइए.